DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुख्यमंत्री के दौर के समय अंबेडकर गांवों में विकास की गंगा बहा दी गई थी। अब फिर से अंबेडकर गांवों पर शासन की नजर गई है। सचिव स्तर के अधिकारी जिले में आकर इन गांवों की व्यवस्थाओं का जायजा लेंगे। यह संभावित दौरा 21 तारीख को हो सकता है।

इसके लिए अधिकारियों ने अंबेडकर गांवों की सुध लेनी शुरू कर दी है। इस बार की अंबेडकर ग्राम योजना के लिए जिले से 68 गांवों का चयन किया गया है। फरवरी माह में मुख्यमंत्री के दौरे के समय अधिकांश गांवों में सारी व्यवस्थाएं चकाचक कर दी गईं थी। हालांकि कुछ गांवों में लोगों को यह भी शिकायत रही थी कि उनके गांवों की ओर ध्यान नहीं दिया गया।

अब फिर जिले के अधिकारी अंबेडकर गांवों की व्यवस्थाओं का आंकलन कर रहे हैं। इन सभी गांवों में संपर्क मांर्गो और पेयजल की बेहतर व्यवस्था पर जोर दिया जा रहा है। इन गांवों में भी उन गांवों पर विशेष तौर पर ध्यान दिया जा रहा है जहां पर पिछले कुछ समय में थाना दिवसों या फिर तहसील दिवसों में शिकायतें आई हैं। इन गांवों में अधिकारी जाकर कार्यों का सत्यापन करेंगे और जिन कार्यों में खामी रह गई हैं, उनको सुधारने की दिशा में कार्य करेंगे।

गांवों में तालाबों की स्थिति पर भी विशेष निगाह रखी जा रही है। जिन स्थानों पर तालाबों पर कब्जे हैं वहां से कब्जे हटवाकर उनका उद्धार करने को कहा गया है। कहा तो यह भी जा रहा है कि आने वाले समय में ऐसे दौरे हर माह भी हो सकते हैं। एडीएम प्रशासन एसबी तिवारी का कहना है कि सचिव के दौरे की सूचना मिल गई हैं। दौरे की तारीख अभी संभावित ही है। अंबेडकर गांवों के विकास कार्यों पर निगाह रखी जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फिर अंबेडकर गांवों पर शासन की नजर