DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

व्रत और त्योहार/पंचांग (मंगलवार, 17 मई 2011)

स्नान-दानादि की विशाख युता वैशाखी पूर्णिमा। बुद्ध पूर्णिमा। बुद्ध परिनिर्वाण संवत् 2555 प्रारंभ। सूर्य उत्तरायण। सूर्य उत्तर गोल। ग्रीष्म ऋतु। सायं 3 बजे से सायं 4:30 तक राहुकालम्।

17 मई, मंगलवार, 27 वैशाख (सौर) शक 1933, ज्येष्ठ मास 3 प्रविष्टे 2068, 13 जमादि उस्सानी सन हिजरी 1432, वैशाख शुक्ल पूर्णिमा, शाम 4:39  तक, बाद में प्रतिपदा, विशाखा नक्षत्र सायं 6:31 तक तदनन्तर अनुराधा नक्षत्र, वरीयान योग प्रात: 9: 52  तक, बाद में परिध योग, भद्रा करण प्रात: 6: 07 तक, चंद्रमा मध्याह्न् 1: 02  तक तुला राशि में उपरांत वृश्चिक राशि में।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:व्रत और त्योहार/पंचांग (मंगलवार, 17 मई 2011)