DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भट्टा पारसौल में किसानों पर हुआ जुल्मः राहुल

भट्टा पारसौल में किसानों पर हुआ जुल्मः राहुल

कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि उत्तर प्रदेश में गौतमबुद्ध नगर जिले के भट्टा पारसौल गांव में गत दिनों पुलिस से संघर्ष में कई किसान मारे गए, महिलाओं के साथ बलात्कार हुआ तथा कई गरीबों के घर जलाए गए।

गांधी ने सोमवार शाम प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से उनके 7 रेस कोर्स स्थित सरकारी आवास पर मिलकर वहां की इन स्थितियों की उन्हें जानकारी दी। गांधी ने घटना के चार दिन बाद तड़के भट्टा पारसौल गांव पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया था तथा किसानों के पक्ष में अपने समर्थकों के साथ धरना पर बैठ गए थे। बाद में पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था।

प्रधानमंत्री से लगभग 30 निमट तक मुलाकात के बाद गांधी ने संवाददाताओं को बताया कि भट्टा पारसौल गांव में काफी संख्या में किसान मारे गए, महिलाओं के साथ बलात्कार हुआ तथा गरीबों के घर जलाए गए जिससे इलाके में दहशत है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को इन स्थितियों की जानकारी दी गई है तथा उनसे संपूर्ण घटनाक्रम की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की गई है तथा पीड़ितों को पर्याप्त सहायता पहुंचाने का भी अनुरोध किया गया है।

एक प्रश्न के उत्तर में गांधी ने कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार संसद के आगामी सत्र में भूमि अधिग्रहण संशोधन विधेयक पेश करने के लिए प्रतिबद्ध है।

 उन्होंने आरोप लगाया कि गांवों में चारों ओर जलने के निशान मौजूद हैं जहां किसान मायावती सरकार से अपनी जमीन के मुआवजे की मांग कर रहे हैं। राहुल ने प्रधानमंत्री को कथित जले हुए शव और किसानों एवं उनके परिवार के लोगों के खिलाफ हिंसा के चित्र भी दिखाए।

उन्होंने कहा कि गांव के लोगों के लिए यह बुनियादी मुद्दा है और उत्तरप्रदेश के गांवों से बड़ी संख्या में लोग आगरा राजमार्ग पर उतर आए हैं जहां सरकार उनका दमन कर रही है, लोगों की हत्याएं की जा रही हैं।

कांग्रेस महासचिव ने संवादाताओं से कहा कि गंभीर अत्याचार हो रहा है वहां कम से कम 74 शवों की राख बिखरी पड़ी है। गांव में सभी लोगों को इसके बारे में जानकारी है। हम आपको इसकी तस्वीरे दिखा सकते हैं। महिलाओं के साथ बलात्कार हो रहे हैं, लोगों को पीटा जा रहा है। लोगों के मकानों को तोड़ा जा रहा है।

राहुल ने कहा कि गांवों में जो कुछ हो रहा है, उससे वह काफी चिंतित हैं और किसानों की बैठक प्रधानमंत्री के साथ कराने का काम किया है ताकि वह अपने विचार रख सकें और प्रधानमंत्री उनकी बात सुन सके।

यह पूछे जाने पर कि केंद्र सरकार अभी तक भूमि अधिग्रहण कानून में संशोधन क्यों नहीं कर पायी है, जबकि इसी विषय पर उन्होंने पिछले वर्ष भी इसी प्रकार की मांग प्रधानमंत्री से की थी, राहुल ने कहा कि इसमें समय लग रहा है क्योंकि विधेयक जटिल है।

राहुल ने कहा कि हम भूमि अधिग्रहण विधेयक के लिए प्रतिबद्ध हैं। भूमि अधिग्रहण जटिल विधेयक है जिस पर हम काम कर रहे हैं। हमें विश्वास है कि आगामी सत्र में यह पास हो जायेगा। उन्होंने कहा कि इसमें संशोधन विचाराधीन है और हम इसके लिए प्रतिबद्ध है और समझते हैं कि यह जटिल विधेयक है। इसलिए इसमें समय लग रहा है।
   

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भट्टा पारसौल में किसानों पर हुआ जुल्मः राहुल