DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गवर्नर की रिपोर्ट पर सोच समझकर फैसला लेगा केंद्र

गवर्नर की रिपोर्ट पर सोच समझकर फैसला लेगा केंद्र

कर्नाटक में राष्ट्रपति शासन लगाने की अनुशंसा संबंधी राज्यपाल एचआर भारद्वाज की रिपोर्ट पर केंद्र जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं करेगा।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि राज्यपाल की रिपोर्ट पर तय प्रक्रिया का पालन किया जाएगा और गृह मंत्रालय इस रिपोर्ट पर कार्रवाई करने में जल्दबाजी में नहीं है। सूत्रों ने बताया कि राज्यपाल ने जल्दबाजी में रिपोर्ट भेजी है। सरकार में भी माना जा रहा है कि राज्यपाल ने जरूरत से ज्यादा उत्साह दिखाया। माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री और राज्यपाल के बीच व्यक्तिगत टकराव के कारण हो सकता है कि उच्चतम न्यायालय के फैसले के दो दिन बाद ही यह रिपोर्ट भेज दी गई।

सूत्रों ने कहा कि जल्दबाजी में कुछ भी नहीं किया जाएगा। राज्यपाल भारद्वाज ने केंद्र को एक विशेष रिपोर्ट भेजी थी, जिसमें प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने और विधानसभा को निलंबित अवस्था में रखने की अनुशंसा की गई थी। इस बीच, राजग ने सोमवार को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मुलाकात करने और उनसे राज्यपाल को बर्खास्त करने की मांग करने का फैसला किया। मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा से कहा गया है कि वह अपने समर्थक भाजपा विधायकों को राष्ट्रपति के सामने पेश करें।

भाजपा नेता अरुण जेटली ने कहा कि राजग केंद्र सरकार को रिपोर्ट भेजने की राज्यपाल की कार्रवाई की कड़ी निंदा करता है। उनका आचार भेदभाव से भरा है। इसने सभी संवैधानिक नियमों और सिद्धांतों का उल्लंघन किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गवर्नर की रिपोर्ट पर सोच समझकर फैसला लेगा केंद्र