DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुस्कान परियोजना: ठगी मामले में पुलिस ने दाखिल किया आरोपपत्र

बाल श्रम उन्मूलन के लिए चलायी जा रही मुस्कान परियोजना के जरिए कथित तौर पर करीब डेढ़ करोड़ रुपए की ठगी के मामले में पुलिस ने सोमवार को आरोपपत्र दाखिल कर दिया।

मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी सुरेंद्र प्रताप सिंह ने इस मामले को सुनवाई के लिए न्यायिक दंडाधिकारी सचि मिश्र की अदालत में स्थानांतरित कर दिया है जिसकी अगली सुनवाई कल होनी है।

उल्लेखनीय है कि इस सिलसिले में सूचक अश्विनी तिवारी ने मुख्यमंत्री के जनता दरबार में शिकायत की थी जिसके बाद गत 12 मार्च को पटना के पाटलिपुत्र थाना में एक प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी। पुलिस ने जांच के बाद शिकायतकर्ता के आरोपों को सही ठहराते हुए आज मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में आरोपपत्र दाखिल कर दिया।

इस मामले में पुलिस ने अखिलेश्वर सिंह, अजय कुमार पांडेय, ज्ञान प्रकाश, विजेंद्र तिवारी, स्वमी जितेंद्र को प्राथमिकी अभियुक्त और दो अन्य को अभियुक्त बनाया है और उनके खिलाफ भादवि की धारा 406, 467, 468, 471, 420, 421, 120 बी एवं 138 के तहत आरोप लगाए हैं।

इस मामले में इन पांचों नामजद अभियुक्तों को गिरफ्तार कर पूर्व में ही न्यायिक हिरासत में जेल भेजा जा चुका है। पुलिस ने पांचों नामजद अभियुक्तों के खिलाफ जांच पूरी कर ली है जबकि अन्य के खिलाफ जांच जारी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुस्कान परियोजना: ठगी मामले में पुलिस ने दाखिल किया आरोपपत्र