DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आगरा के अनूठे जल सेवकों की वापसी

आगरा के जल सेवक एक बार फिर अपनी सेवाएं देने के लिए तैयार हैं। झुलसाने वाली गर्मी में राहगीरों को स्वच्छ, ठंडा और निशुल्क पीने का पानी उपलब्ध कराने के लिए शहरभर में करीब 50 जल झोंपडियां शुरू की गई हैं।

'श्रीनाथजी निशुल्क जल सेवा' प्रमुख बांकेलाल महेश्वरी ने सोमवार को बताया, ''अमीर लोग तो ठंडे पानी की बोतलें खरीद सकते हैं लेकिन रिक्शा खींचने वालों या साइकिल पर काम करने वाले गरीबों के लिए पानी की क्या व्यवस्था है। हमारे जल सेवा नेटवर्क के कार्यकर्ता मानवता की खातिर सभी को पीने का पानी उपलब्ध कराएंगे।''

उन्होंने कहा, ''बर्फ के दाम बढ़ते जा रहे हैं और इसमें काम करने वाले मजदूर भी हमेशा से ज्यादा पैसा मांग रहे हैं लेकिन हमने किसी तरह जल सेवा का प्रबंध किया है।''

इस अनूठी जल सेवा को अब 25 साल हो गए हैं। इसे एक स्वैच्छिक आंदोलन के रूप में चलाया जाता है और इसकी कोई औपचारिक संरचना नहीं है। खुद भगवान श्रीनाथजी ही इसके प्रमुख हैं और उन्हीं के नाम पर दान लिया जाता है। इस सेवा से जुड़े कार्यकर्ता रेलगाडियों और बसों में भी यात्रियों को पानी पिलाते हैं।

पिछले सप्ताह ही दो नई जल झोंपडियां शुरू की गईं। माहेश्वरी ने बताया, ''हम जो पानी इस्तेमाल करते हैं वह सुरक्षित है क्योंकि इसे जमीन से निकाला जाता है, हम नगरनिगम का पानी नहीं लेते। जल झोंपडियों पर सेवानिवृत्त लोग काम करते हैं, जिन्हें उनकी इस सेवा का हर दिन मेहनताना दिया जाता है।''

प्रख्यात भौतिकविद व एक जल झोंपड़ी का उद्घाटन करने वाले एम.सी. गुप्ता कहते हैं कि झुलसा देने वाली गर्मी में लोगों को स्वच्छ व ठंडा पानी उपलब्ध कराना मानवता की सच्ची सेवा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आगरा के अनूठे जल सेवकों की वापसी