DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गर्मियों मे सीखिये क्लासिकल डांस

गर्मियों मे सीखिये क्लासिकल डांस

गर्मी की छुट्टियों में अगर क्लासिकल डांस सीखा जाए तो कैसा रहे? यह ऐसा हुनर है, जिसे तुम खेल-खेल में सीख भी लोगे और इससे सेहत भी चुस्त व दुरुस्त रहेगी। लाइफ में कुछ ऐसा जरूर सीखना चाहिए, जो आगे चलकर तुम्हें सबसे डिफरेंट बना दे। इसीलिए इन छुट्टियों में क्यों न डांसिंग में हाथ आजमाया जाए, वह भी क्लासिकल डांस में। वैसे डांस करना कितना मजेदार रहता है। कहीं किसी प्रोग्राम में जाओ, अपने इस हुनर को दिखाओ, बदले में तुम्हें खूब वाहवाही मिलेगी। लेकिन क्लासिकल डांस की पूरी ट्रेनिंग तुम्हें लेनी होगी।

इस डांस के कई फायदे भी हैं। फेमस कथक डांसर रानी खानम के अनुसार, क्लासिकल डांस योग का ही एक रूप है, जिसमें बॉडी का बैलेंस बेहतर बनता है और यह पर्सनेलिटी डेवलेपमेंट में सहायक होता है। उनका कहना है- यह एक ऐसी कला है, जिसमें हम अपने संस्कारों से जुड़ते हैं, आत्मा से जुड़ते हैं। इसमें हमारा मेडिटेशन होता है। बॉडी फ्लेक्सिबल होती है। एनर्जी लेवल बढ़ता है, कैलौरी बर्न होती हैं। बॉडी की एक्सरसाइज हो जाती है। अगर डांस बचपन से ही सीखा जाए तो इससे शरीर की ग्रोथ बेहतर तरीके से होती है- बॉडी का पॉश्चर ठीक होता है। टांगें, उंगलियां, आंखें और गर्दन की मांसपेशियों में मजबूती आती है। स्किन में ग्लो आता है और बाल मजबूत बनते हैं। इससे मानसिक क्षमता विकसित होती है और पढ़ाई में अच्छा परफॉर्म कर सकते हैं।

जब इसके सीखने के फायदे ही फायदे हैं तो क्यों न इसे सीख ही लिया जाए। इन दिनों सरकारी व प्राइवेट संस्थाएं वर्कशॉप करती हैं, जहां जाकर तुम डांस सीख सकते हैं। कथक, भरतनाट्यम, ओडिसी या कुचिपुड़ी में से जिस भी डांस में रुचि हो, उसमें एडमिशन लो और कुछ नया एंजॉय करो।    

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गर्मियों मे सीखिये क्लासिकल डांस