DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्रों की उलझनें सुलझाएगी बुकलेट

छात्रों की उलझनें सुलझाएगी बुकलेट

डीयू में दाखिले के समय होने वाली परेशानियों से बचाने के लिए अपनाए जा रहे हैं नए-नए तरीके

दिल्ली विश्वविद्यालय में इस बार कटऑफ लिस्ट जारी करके खुले रूप से दाखिले की प्रक्रिया चलाई जाएगी। इस नई व्यवस्था में छात्रों को किसी तरह की कोई दिक्कत न हो, इसके लिए एक बुकलेट तैयार की जा रही है। इस बुकलेट के द्वारा नई व्यवस्था का प्रचार-प्रसार किया जाएगा। इसके अलावा भी नई व्यवस्था से छात्रों को रू-ब-रू कराने के लिए विश्वविद्यालय स्तर पर कॉल सेंटर से लेकर ओपन काउंसलिंग जैसे कार्यक्रमों की तैयारी की गई है।

छात्रों की सुविधा को ध्यान में रख कर डीयू के दाखिले की प्रक्रिया में बदलाव किया गया है। लेकिन, नई व्यवस्था को लेकर छात्रों में असमंजस की स्थिति को देखते हुए प्रचार प्रसार के लिए विश्वविद्यालय नई पहल करने जा रहा है। डीयू के डीन ऑफ स्टूडेंट वेलफेयर प्रो. जेएम खुराना ने बताया कि दाखिले की नई प्रक्रिया की सही जानकारी छात्रों को उपलब्ध कराने के लिए विश्वविद्यालय स्तर पर कई तरह की तैयारियां की जा रही हैं। उन्होंने बताया कि इसके लिए बुकलेट तैयार किए जा रहे हैं।
बुकलेट में दाखिले से संबंधित हर तरह का जानकारियां प्रदान की जाएंगी। उन्होंने बताया कि इसके लिए विश्वविद्यालय स्तर पर कई सेंटर भी बनाए जाने की योजना है। नॉर्थ और साऊथ कैंपस के अलावा बाहरी दिल्ली के कॉलेजों में भी बुकलेट सेंटर बनाए जाएंगे। प्रो. खुराना ने बताया कि  छात्रों को लिए ओपन काउंसलिंग की भी व्यवस्था करने की योजना है। हालांकि उन्होंने बताया कि इसकी तिथियां अभी तय नहीं की गई हैं। लेकिन, छात्रों को दाखिले की नई प्रक्रिया की जानकारी देने के लिए यह सहायक साबित होता है। उन्होंने बताया कि ओपन काउंसलिंग की वीडियो बनवाया जाएगा और वेबसाइट पर उसे लोड किया जाएगा। ताकि दिल्ली से बाहर के छात्रों को दाखिले की प्रक्रिया समझने में मदद मिल सके।

उन्होंने बताया कि दाखिला प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए ही सभी कॉलेजों से दाखिले से संबंधित अतिरिक्त योग्यता मापदंड के बारे में जानकारी देने को कहा है। फिलहाल 50 कॉलेजों ने विश्वविद्यालय को दाखिले के लिए अपनाए जाने वाले मापदंड की जानकारी भेज दी है।

डीयू और कॉलेज आयोजित करेंगे ओपन डेज

दिल्ली विश्वविद्यालय के अलावा इस बार कई कॉलेज अपने ओपन डेज आयोजित करेंगे। इससे छात्रों को अधिक से अधिक जानकारी पहुंच सकेगी। ओपन डेज में छात्रों को कॉलेज के बारे में और कोर्सों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी ताकि दाखिलों के दौरान किसी तरह की असुविधा न हो। श्रीराम कॉलेज ऑफ कामर्स, स्टीफंस कॉलेज, जाकिर हुसैन कॉलेज, किरोड़ीमल कॉलेज, हिंदू कॉलेज और मिरांडा ने फिलहाल इस बात का ऐलान कर दिया है कि वह छात्रों के लिए ओपन डेज का आयोजन करेंगे। चूंकि इस बार विश्वविद्यालय ने फॉर्म की व्यवस्था पूरी तरह खत्म कर दी है इससे छात्र सीधे कॉलेजों में मार्कशीट दिखाकर दाखिला ले सकेंगे। इस वजह से ही अब केंद्रीयकृत व्यवस्था समाप्त हो गई है। जिस वजह से ओपन डेज के माध्यम से कॉलेज अपनी यूएसपी के बारे में कॉलेजों से साझा कर सकेंगे।

ई-ओपन डेज

दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र अब ई-ओपन डेज के मार्फत विश्वविद्यालय की दाखिला प्रक्रिया की जानकारी पा सकेंगे। ई-ओपन डेज शुरू होने के बाद उनके लिए ये तलाशना आसान हो जाएगा कि डीयू कौन सा कोर्स कराता है और वहां दाखिले की प्रक्रिया क्या है। खासतौर पर इन्हें उन छात्रों को ध्यान में रखकर बनाया गया है जो कि दिल्ली के नहीं है।

कॉल सेंटर: इस वर्ष डीयू आवेदकों को कॉल सेंटर के जरीए जानकारी देगा। यह कॉल सेंटर कोर्स, दाखिले आदि सभी जरूरी बातों की जानकारी देगा। यही नहीं पहली कटऑफ आदि की जानकारी इस कॉल सेंटर से प्राप्त की जा सकेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छात्रों की उलझनें सुलझाएगी बुकलेट