DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धरने पर बैठेंगे येदियुरप्पा

धरने पर बैठेंगे येदियुरप्पा

अपनी सरकार को बर्खास्त करने की सिफारिश करने पर राज्यपाल हंसराज भारद्वाज की कड़ी आलोचना करते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने सोमवार को कहा कि उनका यह कृत्य राज्य की जनता की प्रतिष्ठा एवं भाजपा को मिले जनादेश का अपमान है।

येदियुरप्पा ने संवाददाताओं से कहा कि दिल्ली में कांग्रेसी आका असंवैधानिक कार्य करने के लिए राज्यपाल का इस्तेमाल कर रहे हैं। मैं लोकतंत्र की हत्या नहीं होने दूंगा। उन्होंने कहा कि राज्यपाल का कदम कर्नाटक की जनता की प्रतिष्ठा और भाजपा को मिले जनादेश का अपमान है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार को बर्खास्त करने की राज्यपाल की सिफारिश का विरोध करने के लिए वह अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों के साथ दोपहर को राजभवन के सामने धरने पर बैठेंगे। उन्होंने भाजपा सरकार के प्रति समर्थन व्यक्त करने वाले पत्र सौंपने के लिए राजभवन गए 10 भाजपा विधायकों से मिलने से इनकार करने पर भी राज्यपाल को आड़े हाथों लिया और कहा कि यह निर्वाचित प्रतिनिधियों का अपमान है।

येदियुरप्पा ने कहा कि मेरी सरकार को बर्खास्त करने की सिफारिश करने का राज्यपाल का कदम लोकतंत्र विरोधी है, क्योंकि इस सरकार को अब भी 121 विधायकों का समर्थन प्राप्त है। उन्होंने कहा कि यदि राज्यपाल बहुमत साबित करने को कहते हैं तो मैं अब भी अपना बहुमत साबित करने को तैयार हूं।

उन्होंने कहा कि राज्यपाल के कदम के खिलाफ विरोध जताने के लिए वह प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मिलने मंगलवार को राज्य के विधायकों और सांसदों के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ दिल्ली जाएंगे।
येदियुरप्पा ने कहा कि सोमवार दोपहर मंत्रिमडल की एक आपात बैठक बुलाई गई है, जिसमें कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लिए जाएंगे। येदियुरप्पा के निवास पर सोमवार को मंत्रियों, विधायकों और भाजपा नेताओं का आना-जाना लगा हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:धरने पर बैठेंगे येदियुरप्पा