DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्रों का रुझान जानने की पहल

छात्र अपनी से रूचि के हिसाब से ही विषयों का चयन कर सकेंगे। दसवीं के बाद आगे की कक्षा में दाखिले के समय स्कूलों में छात्रों के मनोवैज्ञानिक टेस्ट और विषय का रुझान जानने के लिए काउंसलिंग की व्यवस्था की जा रही है। बताया जा रहा है कि जांच में आने वाले परिणाम के आधार पर स्कूल अभिभावकों को विषय चयन का सलाह देगा।

अभिभावकों के दबाव में आकर छात्र विषय का चयन नहीं कर पाएंगे। मालूम हो कि दसवी के बाद आगे की पढ़ाई के लिए अभिभावक छात्रों पर विषय चयन के लिए दबाव बनाते हैं। डीएवी पब्लिक स्कूल, मौसम विहार की प्रिंसिपल वंदना कपूर का कहना है कि 11वीं में दाखिला के दौरान बच्चों का किस विषय में रुझान है इसको जानने के लिए काउंसलिंग की व्यवस्था की जा रही है। इसके लिए सभी विषयों के विशेषज्ञों को बाहर से बुलाया जा रहा है। विषय के हिसाब से विशेषज्ञ के सामने बच्चे बैठेंगे और फिर उस बच्चे का रुझान पता किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि पढ़ाई के अलावा सिनेमा, खेल, मनोरंजन के साथ ही दूसरे पहलुओं पर चर्चा होगी। उन्होंने बताया कि इस मौके पर बच्चों के अभिभावक को खास तौर पर बुलाया जा रहा है। ताकि उनकों बच्चों के रुझान का पता चल सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छात्रों का रुझान जानने की पहल