DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेट्रोलियम मूल्य वृद्धि पर भड़के सछास और सयुस कार्यकर्ताओं ने रविवार को गोहनियां चौराहे पर केन्द्र सरकार के खिफाल नारेबाजी करते हुए पेट्रोलियम मंत्री का पुतला दहन किया। समाजवादी युवजन सभा के जिलाध्यक्ष अमर सिंह के नेतृत्व में सयुस और सछास कार्यकर्ता आज गौहनिया चौराहे पर एकत्र हुए।

सिंह ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि नौ माह में पेट्रोल के मूल्यों में सरकार ने नौ बार वृद्धि की है। आगे डीजल और रसोई गैस के दाम बढ़ाने का भी प्रस्ताव है, जिससे सामान्य लोगों का जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। उन्होंने कहा कि महंगाई और भ्रष्टाचार के खिलाफ कोई पार्टी अगर संघर्ष कर सकती है तो वह सपा ही है।

उपाध्यक्ष फैसल अब्बास ने भी प्रदर्शनकारियों को संबोधित किया। कार्यकर्ताओं ने केन्द्र सरकार के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए पेट्रोलियम मंत्री का पुतला दहन किया। इस मौके पर बेंजामिन, जाकिर, आशू, उपेन्द्र पाल सिंह, भूपेन्द्र सिंह, रानू, रॉकी, हरजिंदर सिंह संधू, जीशान, सोनू शर्मा व संतोष सहित अनेक कार्यकर्ता थे।

इधर से भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी कार्यालय पर हुई बैठक में किशन लाल एडवोकेट ने कहा कि बेलगाम महंगाई से देश की जनता त्राहि-त्राहि कर रही है। सरकार में शामिल मंत्री, सांसद, विधायक और कार्पोरेट जगत के लोग जनता की गाढ़ी कमाई पर मौज कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम मूल्य मूल्य वृद्धि ने जनता की कमर तोड़ दी है।

महंगाई के खिलाफ जन आंदोलन कदम उठाने वालों का उत्पीड़न किया जा रहा है। बैठक में अनेक कार्यकर्ता मौजूद रहे। वरुण सेना छात्र प्रकोष्ठ की बैठक में भी पेट्रोलियम मूल्यों हुई वृद्धि की निंदा की गई। जिलाध्यक्ष आशू सक्सेना के आवास पर हुई बैठक में छात्रों को पेट्रोल के मूल्यो ंमें छूट देने की मांग की गई। बैठक में मनोज शर्मा, अजय वर्मा, अर्जुन सरीन, रोहित, कामेश्वर, अनिल, प्रदीप बाल्मीकि, शलभ शर्मा, हर्षित गुप्ता व शिवम सक्सेना मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पेट्रोल मूल्य में वृद्धि पर आया उबाल, पुतला फूंका