DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्य में एजीएम की कमी पिउन चला रहे हैं गोदाम

राज्य में एजीएम की कमी के कारण पीडीएस सिस्टम बुरी तरह प्रभावित हो गया है। हद तो यह है कि पिउन को भी गोदाम चलाने की अनुमति दे दी गयी है। चतरा में एक पिउन तीन-तीन गोदाम संभाल रहे हैं। बीएसएफसी के एमडी डॉ राणा अवधेश के अनुसार एजीम की बहाली जल्द की जायेगी। एक पिउन के तीन गोदाम चलाने की जानकारी उन्हें नहीं है। उन्होंने कहा कि पिउन को गोदाम चलाने का आदेश किसने दिया, इसकी जांच होगी।ड्ढr चतरा के डीएम बी मंडल ने एक पिउन बाबर अली को चतरा, सिमरिया और टंडवा गोदाम का ‘एजीएम’ बना दिया। तीनों गोदाम में डीलरों की संख्या अधिक है। नतीजा कार्डधारियों का अनाज हर माह लैप्स कर जाता है। फिर भी इस ओर न तो राज्य सरकार का ध्यान जा रहा है और न ही राज्य खाद्य निगम का। रांची, चाईबासा (खरसांवा), गुमला (लोहरदगा, सिमडेगा), धनबाद (बोकारो), हजारीबाग (कोडरमा, चतरा), पलामू (गढ़वा, लातेहार), गिरिडीह, दुमका (देवघर, जामताड़ा) और साहेबगंज (पाकुड़, गोड्डा) निगम के राजस्व जिले हैं। इन जिलों में निगम के 183 गोदाम हैं, लेकिन एजीएम की संख्या मात्र 111 है।ड्ढr उपभोक्ताओं के बीच समय से राशन उपलब्ध कराने के लिए हरक गोदाम में कम से कम एक एजीएम की आवश्यकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राज्य में एजीएम की कमी पिउन चला रहे हैं गोदाम