DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

होम लोन चाहिए तो नक्शा दो भूकंपरोधी

अगर आपके मकान का डिजाइन भूकंप-रोधी नहीं है तो होम लोन नहीं मिलेगा। लोन आवेदन के साथ आपको प्रस्तावित इमारत का स्ट्रक्चरल डिजाइन बैंक के पास जमा करके बताना होगा कि इसमें भूकंप, चक्रवात जैसी प्राकृतिक आपदाओं का झटका झेलने की क्षमता है।

बैंक को अगर डिजाइन में फॉल्ट नजर आता है तो लोन देने से इंकार कर देगा। रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों को राष्ट्रीय  आपदा प्रबंधन प्राधिकरण यानी एनडीएमए के उन दिशा-निर्देशों को लागू करने को कहा है जिनके तहत लोन देने से पहले सुनिश्चित करना होगा कि प्रस्तावित भवन का निर्माण आपदा-रोधी डिजाइन के तहत हो रहा है।

आरबीआई ने यह कदम इंडियन बैंक्स एसोसिएशन (आईबीए) और नेशनल हाउसिंग बैंक के साथ व्यापक चर्चा के बाद उठाया है। आरबीआई का कहना है कि एनडीएमए के दिशा निर्देश लागू करना बैंक और ग्राहक दोनों के हित में होगा।

एनडीएमए के दिशा-निर्देशों के तहत किसी भी व्यक्ति को लोन आवेदन के साथ नए मकान या पुरानी इमारत में फेरबदल का नक्शा व बिल्डिंग तथा स्ट्रक्चरल डिजाइन बैंक को देना होगा। यह डिजायन किसी आर्किटेक्ट द्वारा बना होना चाहिए। इसके बाद बैंक के तकनीकी अधिकारी इसकी समीक्षा करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:होम लोन चाहिए तो नक्शा दो भूकंपरोधी