DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यू हेल्थ स्मार्ट कार्ड योजना से सरकारी कर्मचारी व पेंशनर्स और उनके आश्रित अब सीधे प्राइवेट अस्पताल में इलाज करा सकेंगे। उन्हें सरकारी अस्पताल से रेफर होने की जरूरत नहीं है। सरकार ने योजना की कई शर्तो को हटा दिया है। देश में पहली बार उत्तराखंड ने बीते अक्टूबर में इस योजना की शुरुआत की थी। इसके तहत राज्य के सभी सरकारी व अधिकृत निजी अस्पतालों में सरकारी कर्मियों व पेंशनर्स के इलाज की व्यवस्था की गई थी।

योजना का लाभ उठाने के लिए उन्हें अपने वेतन या पेंशन से वार्षिक अंशदान देना था। लेकिन, कुछ शर्तो के कारण योजना परवान नहीं चढ़ पाई। राज्य के करीब सवा दो लाख सरकारी कर्मचारी व एक लाख पेंशनर्स में से सिर्फ दस फीसदी ने ही योजना का कार्ड बनवाया। मात्र चार लोगों ने इलाज कराया।

ऐसे में सरकार ने योजना की शर्तो को बदलते हुए कुछ राहत देने का फैसला किया। योजना की स्टेट नोडल अफसर डॉ. सरोज नैथानी के अनुसार नई शर्तो के अनुसार एमडी इंडिया हेल्थकेयर पुणे के साथ नया एमओयू अंतिम चरण में है। शीघ्र ही कर्मचारियों-पेंशनर्स को कार्ड के जरिए ज्यादा लाभ मिल सकेगा।

यू-हेल्थ स्मार्ट कार्ड योजना में बदलावसरकारी अस्पताल से रेफर के बजाय कर्मचारी-पेंशनर्स अधिकृत निजी अस्पताल में इलाज करा सकेंगेनिजी अस्पतालों में जनरल वार्ड के बजाय सेमी प्राइवेट, प्राइवेट व डीलक्स वार्ड में भर्ती हो सकेंगेनिजी अस्पताल बाहर के स्पेशलिस्ट व सुपर स्पेशलिस्ट चिकित्सक को भी बुला सकेंगेकार्ड में शामिल बीमारियों के अलावा अन्य का भी इलाज निजी अस्पतालों में करा सकेंगे

सरकारी अस्पतालों की ओपीडी में दवा की रि-इंबर्समेंट व्यवस्था जारी रहेगी। राज्य के सभी जिला, संयुक्त, उप जिला चिकित्सालयों व राजकीय मेडिकल कॉलेजों में हेल्थ कार्ड से जुड़ी मशीन लगेंगी योजना की खास बातें राज्य सरकार में कार्यरत व पेंशनर्स को स्मार्ट कार्ड से कैशलेस चिकित्सा सेवा सभी सरकारी व 50 निजी अस्पताल योजना से संबद्ध आश्रित बच्चों, पत्नी/पति, माता-पिता, सौतेली संतान, अविवाहित बहन, विधवा बहन/पुत्री व अवयस्क भाई भी लाभ ले सकेंगे अधिकृत निजी अस्पतालदेहरादून-22, ऊधमसिंहनगर-11, नैनीताल-8, हरिद्वार-2, राज्य के बाहर फोर्टिस नोएडा, नेशनल हार्ट इंस्टीट्यूट दिल्ली, मेदांता मेडसिटी गुड़गांव, आई क्यू हॉस्पिटल मुजफ्फरनगर व सहारनपुर, फोर्टिस व इंडस हॉस्पिटल मोहाली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकारी कर्मचारी प्राइवेट हॉस्पिटल में सीधे कराएं इलाज