DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ओसामा के मददगारों पर कस रहा है शिकंजा

ओसामा के मददगारों पर कस रहा है शिकंजा

अल कायदा नेटवर्क को आर्थिक मदद करने वाले लोगों के खिलाफ शिकंजा तेजी से कस रहा है क्योंकि जांचकर्ताओं ने पाकिस्तान के ऐबटाबाद में ओसामा बिन लादेन के परिसर से बरामद किए दस्तावेजों के लाखों पन्नों की छानबीन शुरू कर दी है।

जांचकर्ताओं का कहना है कि उन्हें दस दिनों में इतने आतंकवादी संगठनों का पता चला है जितना पिछले दस साल में नहीं लग पाया था। संभावित षड्यंत्रों को बेनकाब करने और आतंकियों की पहचान करने के अलावा जांचकर्ताओं का कहना है वे धन की लेनदेन के संबंध में सूचनाएं एकत्र कर रहे हैं।

संडे टाइम्स के अनुसार, माना जाता है कि ओसामा के नेटवर्क के खाड़ी क्षेत्र में कई रईस मददगार है। इसमें से कुछ तो ओसामा से मिलने उसके परिसर भी पहुंचे थे, हालांकि ऐसी घटनाएं बेहद कम हुई।

ओसामा के द्वारा बनाई गई पांच होम मूवीज को पिछले सप्ताहांत जारी किया गया था। अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि इसके अलावा उन्हें ओसामा के शयनकक्ष के एक बक्से से अश्लील वीडियो और चित्रों का अंबार मिला है।

जिन जगहों पर हमले की आशंका थी उनमें लास एंजेलिस शामिल था। लास एजेंलिस में कुत्तों को आत्मघाती हमलावरों की पहचान करने का प्रशिक्षण दिया जाता है।
 अधिकारी दुनिया के सबसे वांछित व्यक्ति के इस परिसर में गुजारे गए पांच साल के जीवन की धीरे धीरे एक अनोखी तस्वीर तैयार कर रहे हैं।

उसके परिवार में उसकी पांच में से तीन पत्नियां, नौ पुत्र एवं पौत्र रहते थे। उनमें से एक या दो पुत्र वयस्क थे। यह परिवार कई मायनों में आत्मनिर्भर था। वे लोग घर में पाले पोसे गए खरगोशों और मुर्गों पर आश्रित रहते थे।

अमेरिकी जांचकर्ताओं ने पाकिस्तान की हिरासत में बंद ओसामा की तीन पत्नियों से पूछताछ की है। अमेरिकी अधिकारियों का मानना है, उन्हें ज्यादा नहीं पता है। एक खुफिया सूत्र ने कहा कि महिलाओं को जेहादी गतिविधियों के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

अमेरिकी जांचकर्ता इस बात की लगातार तलाश कर रहे हैं कि क्या ओसामा और पाकिस्तानी सेना या खुफिया एजेंसियों के बीच कोई संबंध था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ओसामा के मददगारों पर कस रहा है शिकंजा