DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब डीजल-रसोई गैस की बारी

अब डीजल-रसोई गैस की बारी

वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी ने रविवार को कहा कि उनकी अध्यक्षता वाला अधिकार प्राप्त मंत्री समूह (EGOM) अगले सप्ताह होने वाली अपनी बैठक में डीजल, एलपीजी और केरोसीन के दाम बढ़ाने पर विचार करेगा।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में निर्वाचित कांग्रेस विधायकों के साथ बैठक के बाद मुखर्जी ने संवाददाताओं से कहा कि अगले सप्ताह ईजीओएम की बैठक में डीजल, एलपीजी और केरोसीन के दाम बढ़ाने पर विचार किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि सरकार का पेट्रोल की कीमत पर कोई नियंत्रण नहीं है क्योंकि इसे जून 2010 से नियंत्रण मुक्त कर दिया गया है। पेट्रोल कीमत में वृद्धि के बारे में फैसला तेल विपणन कंपनियों ने किया है।

उल्लेखनीय है कि सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों ने शनिवार को पेट्रोल के दाम में 5 रुपए लीटर की वृद्धि की। मुखर्जी ने कहा कि डीजल, एलपीजी तथा केरोसीन जैसे अन्य पेट्रोलियम उत्पादों के लिए अधिकार प्राप्त मंत्रियों का समूह है।

वित्त मंत्री ने कहा कि पिछली बार पेट्रोलियम कीमतों में वृद्धि उस समय की गई थी जब वह 68 डॉलर बैरल थी लेकिन अब यह 110 डॉलर बैरल हो गई है। उन्होंने कहा कि इस समय केरोसीन पर 26 रुपए, डीजल पर 16 रुपए तथा एलपीजी सिलेंडर पर 320 रुपए की सब्सिडी दी जा रही है।

सूत्रों के अनुसार रसोई गैस की कीमतों में प्रति सिलेंडर 20 से 25 रुपए की बढ़ोतरी की जा सकती है और डीजल की कीमतों में भी लगभग 5 रुपए की बढ़ोतरी की संभावना है।

इससे पहले तेल कंपनियों ने एक ही झटके में पेट्रोल के दाम में अब तक की सबसे बड़ी वृद्धि करते हुए शनिवार मध्यरात्रि से देश भर में पेट्रोल के दाम पांच रुपयए प्रति लीटर बढ़ाने की घोषणा की थी। इसके साथ ही दिल्ली में पेट्रोल का दाम बढ़कर 63.37 रुपये लीटर हो गया है। पेट्रोलियम पदार्थों की बिक्री करने वाली अन्य कंपनी हिन्दुस्तान पेट्रोलियम और भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन ने भी पेट्रोल के दाम क्रमश 4.99 रुपये और 5.01 रुपये लीटर बढ़ा दिए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब डीजल-रसोई गैस की बारी