DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेरिका को डराने को स्टालिन ने उतारे थे एलियन

वर्ष 1947 में अमेरिका के रॉसवेल में एक कथित उड़नतस्तरी (यूएफओ) के दुर्घटनाग्रस्त होने के पीछे सोवियत नेता जोसेफ स्टालिन का दिमाग था, जो अमेरिका को भयभीत करना चाहते थे।

यह दावा किया गया है एरिया 51, एन अनसेंसर्ड हिस्ट्री नाम की किताब में जिसके अनुसार स्टालिन ने नाजी वैज्ञानिक डॉक्टर जोसेफ मेंगेले की मदद से बच्चों की तरह दिखने वाले पायलटों को बनवाया था।

डेली मेल की खबर के अनुसार किताब की लेखिका एनी जैकबसन नेवादा के एरिया 51 के पूर्व कर्मचारियों से इंटरव्यू के बाद इस नतीजे पर पहुंचीं। किताब के अनुसार इस काम में हॉर्टन एच.ओ. 229 नाम के एक विंग वाले नाजी युद्ध विमान को शामिल किया गया था। इसमें विकृत बच्चों की तरह दिखने वाले पायलटों को बिठाया गया था।

इस काम में स्टालिन की मदद करने वाले डॉक्टर जोसेफ दूसरे विश्वयुद्ध के बाद जर्मनी से भाग कर दक्षिणी अमेरिका में छिपे हुए थे। यह घटना 1970 के दशक में सुर्खियों में आई जब इस पर कई किताबों और फिल्मों का निर्माण हुआ।

किताब के अनुसार यह योजना पूरी तरह से सफल नहीं हो पाई और रिमोट संचालित यह विमान कथित रूप से दुर्घटनाग्रस्त हो गया और इसमें से निकले शवों से मालूम हुआ कि वह इंसान की तरह दिखने वाले गिनीपिग थे, जिन्हें सर्जरी के जरिए ऐसा बनाया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अमेरिका को डराने को स्टालिन ने उतारे थे एलियन