अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ंआर्थिक मोर्चे पर खट्टी-मीठी खबरं

वरिष्ठ नागरिक और ब्याा दरों पर निर्भर रहने वालों के लिए बुरी खबर है। बीते एक माह में एक फीसदी कम हो चुकींोमा दरें अगले साल और कम हो सकती हैं। वहीं बैंकरों का कहना है कि रिार्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) लोन की बढ़ती माँग को ध्यान में रखते हुए रपो और रिवर्स रपो रट में कभी भी कमी की घोषणा कर सकता है। इससे बैंकों को लोन और सस्ते होोाएँगे। साथ ही उनके पास अधिक लोन बाँटने के लिए यादा धन आोाएगा।एसबीआई ने पहलीोनवरी सेोमा दरों में एक फीसदी की कटौती का फैसला किया है। वहीं बैंक ऑफ बड़ौदा और बैंक ऑफ इंडिया ने भी नए साल मेंोमा का ब्याा घटाने की घोषणा की है। दूसरी तरफ, एचडीएफसी बैंक ने कहा कि मुद्रास्फीति की दर में लगातार गिरावट को देखते हुए आरबीआई रिवर्स रपो रट में आधे से एक फीसदी तक की कमी कर सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ंआर्थिक मोर्चे पर खट्टी-मीठी खबरं