DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शताब्दी कोच में बदबू पर यात्री भड़के, टीटीई से नोकझोंक

साफ-सुथरे और तनाव मुक्त माहौल में शताब्दी में सफर मुश्किल हो रहा है। रोजाना किसी न किसी वजह से वीआईपी यात्रियों को दिक्कत हो रही है। यात्रियों को आए दिन कोच में समस्याओं से दो-चार होना पड़ रहा। शनिवार को भी ऐसा ही हुआ। कोच नम्बर सी 3, 5, 6, और 7 शौचालय की बदबू कोच के भीतर जा रही थी। सांस लेना दुश्वार था। इसे लेकर यात्री भड़क गए और उनकी टीटीई से तकरार हुई।

सेंट्रल पर शौचालय बिना साफ किए रवाना कर दिया गया। कोच में माननीय उच्च न्यायालय के न्यायाधीश भी सवार थे। गुरुवार को लखनऊ-दिल्ली शताब्दी अपने समय से पांच मिनट पहले ही पहुंच गई। यहां इक्जीक्यूटिव क्लास से सटे कोचों में शौचालय की बदबू घुस रही थी। शौचालय और कोच के बीच दरवाजा खुलते ही पूरे कोच में बदबू फैल रही थी। उसी जगह खान-पान का सामान भी रखा था।

यात्रियों ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई और सफाई करने की मांग रखी। पर रेल प्रशासन ने उनकी नहीं सुनी और ट्रेन रवाना कर दी। इस बीच यात्रियों और टीटीई में काफी देर तक नोकझोंक होती रही। यात्रियों का आरोप था कि लखनऊ से ही दुर्गन्ध महसूस हो रही है। दरवाजा खुलते ही बदबू भर जाती है। लखनऊ में भी शिकायत की गई। बताया गया कि कानपुर में सफाई हो जाएगी। लेकिन यहां भी सफाई नहीं हुई। इस कोच में उच्च न्यायालय के एक न्यायाधीश भी सफर कर रहे थे।

स्टेशन अधीक्षक मेवालाल का कहना है ट्रेन कम समय के लिए रुकती है। इतने कम समय में सफाई नहीं हो सकती। लखनऊ से ट्रेन चलती है यह जिम्मेदारी लखनऊ की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शताब्दी कोच में बदबू पर यात्री भड़के, टीटीई से नोकझोंक