DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेट्रोल शनिवार रात से 5 रुपये महंगा

पेट्रोल शनिवार रात से 5 रुपये महंगा

तेल कंपनियों ने एक ही झटके में पेट्रोल के दाम में अब तक की सबसे बड़ी वृद्धि करने का निर्णय करते हुए शनिवार मध्यरात्रि से देश भर में पेट्रोल के दाम पांच रुपये लीटर बढ़ाने की घोषणा की। इसके साथ ही दिल्ली में पेट्रोल का दाम बढ़कर 63.37 रुपये लीटर हो गया है।
  
इसके बाद जल्द ही डीजल और घरेलू रसाई गैस के  सिलेंडर में भी वृद्धि की जा सकती है। डीलज में प्रति लीटर चार रुपये और एलपीजी सिलेंडर की दरों में 20 से 25 रुपये की वृद्धि की संभावना व्यक्त की जा रही है।
  
एक अधिकारी ने बताया कि ताजा मूल्यवृद्धि के बाद दिल्ली में इंडियन ऑयल कारपोरेशन के पेट्रोल पंप पर पेट्रोल 63.37 रुपये लीटर बिकेगा। इससे पहले यह 58.37 रुपये लीटर था।

सूत्रों के अनुसार पेट्रोल में पांच रुपये लीटर की वृद्धि के बावजूद तेल कंपनियों को अभी भी पेट्रोल पर 5.50 रुपये प्रति लीटर का नुकसान हो रहा है, इस लिहाज से जल्द ही पेट्रोल के दाम और बढ़ सकते हैं।
   
पेट्रोलियम पदार्थों की बिक्री करने वाली अन्य कंपनी हिन्दुस्तान पेट्रोलियम और भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन ने भी पेट्रोल के दाम क्रमश 4.99 रुपये और 5.01 रुपये लीटर बढा दिए हैं।
   
अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम पिछले ढाई साल के उच्चस्तर पर पहुंच जाने के बावजूद तेल कंपनियों ने इस साल जनवरी से पेट्रोल के दाम नहीं बढाए। पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव की तैयारियों के चलते तेल कंपनियों ने मूल्य वृद्धि को रोका हुआ था और अब विधानसभा चुनाव संपन्न होते ही पेट्रोल के दाम बढ़ा दिए गए। जल्द ही डीजल और रसोई गैस की कीमतें भी बढ़ सकती हैं।
   
सरकार ने पिछले साल जून में ही पेट्रोल के दाम से अपना नियंत्रण हटा लिया था। इसलिये तेल कंपनियों ने सरकार की तरफ से इशारा मिलते ही अपने स्तर पर पेट्रोल दाम बढा दिए।   

पेट्रोल के दाम नियंत्रण मुक्त किए जाने के बावजूद तेल कंपनियों ने जनवरी से पेट्रोल की मूल्यवृद्धि रोक रखी थी। पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, केरल और पुडडुचेरी विधानसभा चुनावों के संपन्न होने के साथ सरकार की तरफ से हरी झंडी मिलते ही कंपनियों ने पेट्रोल के दाम बढ़ा दिए।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ने से मौजूदा खुदरा कीमतों पर कंपनियों को पेट्रोल पर 10.50 रुपये लीटर की कमवसूली हो रही थी। इस लिहाज से नुकसान के मुकाबले दाम केवल आधे ही बढ़ाए गए हैं। एक और वृद्धि अगले कुछ दिनों में हो सकती है।

पिछले साल जून में पेट्रोल के दाम को सरकारी शिकंजे से मुक्त करने के बाद आठवीं बार पेट्रोल के दाम बढ़ाए गए हैं। पिछले साल 26 जून को पेट्रोल के दाम नियंत्रणमुक्त करते समय दिल्ली में पेट्रोल 51.43 रुपये लीटर हुआ था।
   
अधिकारियों के अनुसार बढ़ते बोझ से तेल कंपनियों को कारोबार करना मुश्किल होता जा रहा था। महंगी खरीद के मुकाबले कम दाम में बिक्री से कंपनियों को कारोबार चलाने के लिए काफी उधार लेना पड़ रहा था। पिछले 45 दिनों में ही इंडियन ऑयल की उधारी में 15,000 करोड़ रुपये की वृद्धि हो गई। कंपनी को रोजाना ईंधन बिक्री पर 296 करोड़ रुपये का घाटा हो रहा था।

तेल कंपनियां अब भी डीजल की बिक्री पर 18.19 रुपये लीटर, मिटटी तेल पर 29.69 रुपये लीटर और घरेलू रसोई गैस सिलेंडर पर 329.73 रुपये प्रति सिलेंडर का नुकसान उठा रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पेट्रोल शनिवार रात से 5 रुपये महंगा