DA Image
11 जुलाई, 2020|12:48|IST

अगली स्टोरी

गोली का जवाब गोली से देना पड़ेगा

सीबीआइ के पूर्व निदेशक जोगिंदर सिंह ने कहा है कि सिर्फ शब्दों के इस्तेमाल से आतंकवाद की लड़ाई नहीं जीती जा सकती। इसके खिलाफ सभी को मिलकर काम करना होगा। हर चीजों के लिए सरकार पर निर्भर नहीं रहना चाहिए। सरकार को भी पता नहीं है कि उसे क्या करना है। देश में 16 लाख पुलिस मैन हैं। एक नागरिक पर एक पुलिस को नहीं लगाया जा सकता। पुलिसिंग की जिम्मेवारी खुद उठानी होगी। मारवाड़ी कम्यूनिटी अपनी सुरक्षा के लिए मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग लें, इससे मारवाड़ी समाज का इमेज भी बदलेगा। वह रविवार को कारवां 2008 में आयोजित आतंकवाद से लड़ाई और राष्ट्रनिर्माण में युवाओं की भूमिका विषयक सेमिनार में बतौर मुख्य वक्ता बोल रहे थे।ड्ढr उन्होंने कहा कि आतंकी वहीं अटैक करते हैं, जहां आप उम्मीद नहीं कर सकते। आतंकवादियों की संख्या ज्यादा नहीं है। जो आदमी बाहर से आयेगा, उसे वहां का भूगोल मालूम नहीं होता है। लोकल लेवल पर मदद करने वाले आतंकवादियों से ज्यादा घृणा का काम करते हैं। इसे रोकने के लिए देश के कानून में कमी है। कानून के मुताबिक सबूत के लिए दो विटनेस जरूरी है। यह उम्मीद करना कि सर्टिफिकेट पाकिस्तान देगा, गलत है। पूर विश्व में आतंकवाद के खिलाफ कानून बदला है। सरकार का कहना कि कानून बदलने से मिसयूज होगा, तर्कसंगत नहीं है। जब तक कानून की कमी को पूरा नहीं किया जायेगा, तब तक सुधार की कोई गुंजाइश नहीं है। आतंकवाद का हल प्रेम से नहीं हो सकता। पकड़े गये आतंकवादियों पर मानवाधिकार की दुहाई दी जाती है। मानवाधिकार मानव के लिए है, दानवों के लिए नहीं। जो हम पर गोली का इस्तेमाल कर रहे हैं, उनपर भी गोली का इस्तेमाल होना चाहिये। भ्रष्टाचार को रोकने के लिए कानून का सरल होना जरूरी है। आयोजन समिति के सदस्यों ने आभार जतायारांची। मारवाड़ी युवा मंच का राष्ट्रीय अधिवेशन कारवां-2008 का आयोजन पूरी तरह सफल रहा। इस आयोजन को सफल बनाने में सभी सदस्यों ने पूरी निष्ठा के साथ अपना योगदान दिया। चार दिवसीय इस आयोजन में राजस्थानी संस्कृति की अद्भुत झलक देखने को मिली। इस सफल आयोजन के लिए पदाधिकारियों ने सभी के प्रति आभार जताया।ड्ढr समिति के संयोजक प्रेम प्रकाश अग्रवाल ने कहा कि सभी के सहयोग से इस आयोजन को सफल बनाया जा सका। सभी लोगों ने पूरी ईमानदारी के साथ अपनी भागीदारी निभायी। स्वागताध्यक्ष विनय अग्रवाल ने कहा कि सभी ने टीम बनाकर कार्य किया और इसमें हम सफल रहे। टीम भावना की वजह से ही हम सफल हुए। स्वागत समिति के चेयरमैन मुकेश काबरा ने कहा कि युवाओं ने जोश के साथ कार्य किया। स्वागत कोषाध्यक्ष राजकुमार अग्रवाल ने कहा कि पूरी टीम की मेहनत का फल मिला। शाखाध्यक्ष मुकेश जाजोदिया ने कहा कि इस प्रकार के आयोजन से नया बल मिला है। विमल जेजानी ने कहा कि जिस प्रकार का आयोजन मंच के सदस्यों ने मिलकर किया है, उसे भुलाया नहीं जा सकता है।ड्ढr सांस्कृतिक कार्यक्रम सह प्रभारी प्रवीण लोहिया ने कहा कि पूरी टीम बधाई की पात्र है। प्रवक्ता विष्णु प्रसाद ने कहा कि जिस प्रकार से टीम ने एकाुटता दिखायी है, उससे लगता है कि अब और भी बड़ा कार्यक्रम हम कर सकते हैं। मंच एवं सभागार प्रभारी मनीष टांटिया ने कहा कि सभी कार्यक्रम पूरी तरह से व्यवस्थित तरीके से किया गया। इसमें सभी की भूमिका सराहनीय रही। पर्यटन प्रभारी कौशल राजगढ़िया ने कहा कि आयोजन को सफल बनाने में मंच के सभी सदस्यों ने समान रूप से अपनी भूमिका निभायी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: गोली का जवाब गोली से देना पड़ेगा