DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यहीं से मिली मेहनत को दिशा

यूपीएससी की तैयारी में छात्र तो जी-जान से तैयारी करता ही है, लेकिन इसमें बड़ा हाथ संस्थान का भी

संघ लोक सेवा आयोग के परिणाम आने के बाद दिल्ली-एनसीआर में खुशी का माहौल होना लाजिमी है। वजह साफ है कि यहां के विश्वविद्यालयों दिल्ली विश्वविद्यालय, जामिया मिल्लिया विश्वविद्यालय और जेएनयू के छात्रों ने बेहतर प्रदर्शन किया है। इन तीनों ही विश्वविद्यालयों का अलग ही मिजाज है। जहां जेएनयू ऐसा विश्वविद्यालय है जो सामाजिक सरोकारों को नई पहचान देने के नाम से जाना जाता है, दिल्ली विश्वविद्यालय जहां विविधताओं का संगम है, यहां से अभिनेता भी निकलते हैं, खिलाड़ी भी और अधिकारी भी। वहीं जामिया अल्पसंख्यक छात्रों को एक नया मुकाम दिलाने के लिए पूरी तरह कटिबद्ध है।

कहानी वानी की

जामिया से एलएलबी की पढ़ाई और वहां के सिविल सेवा की तैयारी कराने वाले सेंटर से पढ़ाई करने वाले गुलजार अहमद वानी ने संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में सफलता हासिल पहले प्रयास में हासिल की है। कश्मीर से ताल्लुक रखने वाले गुलजार मानते हैं कि यूपीएससी में सफलता पाने के लिए जरूरी है कि पूरे परिदृश्य पर मजबूत पकड़ रखें। अपनी ज्ञानेंद्रियों को पूरी तरह खोलकर तैयारी करें। तभी सिविल सेवा में सफलता मिलती है। गुलजार बताते हैं कि मेरे पिता जी खेतीबाड़ी का काम करते हैं और उन्होंने मेरी तैयारी में काफी सपोर्ट किया। धन से मजबूती देने के साथ-साथ उन्होंने मुझे मानसिक तौर पर भी काफी सहयोग किया।

वह कहते हैं कि कश्मीर के हालातों को बेहतर करने के लिए आवश्यक है कि वहां के वांशिदें आल इंडिया स्तर पर होने वाली परीक्षाओं में बैठे जिससे वह बेहतर कर सकेंगे। जहां तक जामिया की बात है तो इस विश्वविद्यालय ने मुझे वो प्लेटफॉर्म प्रदान किया जिसकी बदौलत मैं ये कर सका।

हौव्वा न बनाएं

यूपीएससी की परीक्षा को एक कंपटीशन की परीक्षा की तरह लें इसे हौव्वा न बनाएं क्योंकि हौव्वा बनाने से सफलता में ब्रेक लग जाता है। ये कहना है जामिया के नेल्सन मंडेला सेंटर फॉर पीस एंड कंफलिक्ट से एमए कर रहे जुसूफ कबीर अंसारी का। पहले प्रयास में ही सफलता हासिल करने वाले जुसूफ कहते हैं कि अक्‍सर आईएएस की तैयारी को लेकर इतना डर पैदा कर दिया जाता है कि युवाओं के लिए ये बहुत बड़ी बात बन जाती है। आम परीक्षा की तरह पूरे विश्वास के साथ इस परीक्षा की तैयारी करें तो सफलता निश्चित है। वह कहते हैं कि भारत के युवाओं में जबरदस्त प्रतिभा है और दुनिया भी इस बात को मानती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यहीं से मिली मेहनत को दिशा