DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आंतरिक कलह का नुकसान छात्रों को भुगतना होगा

सेमेस्टर सिस्टम को लेकर दिल्ली विश्वविद्यालय प्रशासन व शिक्षकों के बीच जारी विवाद को हाईकोर्ट ने चिंताजनक बताया है। हाईकोर्ट ने कहा कि विवाद के कानूनी पहलुओं को हल करने के बाद भी विश्वविद्यालय में आंतरिक कलह मौजूद रहेगा और यदि ऐसा हुआ तो सेमेस्टर सिस्टम लागू करने के बाद भी इसका खामियाजा छात्रों को भुगतना होगा। यह टिप्पणी करते हुए हाईकोर्ट ने कुलपति व शिक्षकों को लिखित में यह बताने के लिए कहा है कि आखिर सेमेस्टर सिस्टम लागू करने के बाद किस प्रकार की परेशानियां सामने आएंगी। इसके साथ ही हाईकोर्ट ने सेमेस्टर सिस्टम का विरोध कर रहे शिक्षकों के खिलाफ अवमानना के आरोप में मुकदमा चलाया जाए या नहीं, इस बारे में अपना निर्णय सुरक्षित रख लिया है।

चीफ जस्टिस दीपक मिश्र व संजीव खन्ना की पीठ ने शिक्षकों के खिलाफ विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से दायर अवमानना याचिका पर निर्णय अगले सप्ताह सुनाएगी। मामले की सुनवाई के दौरान काफी संख्या में विश्वविद्यालय के शिक्षक भी कोर्ट में मौजूद थे। हालांकि सभी विषयों में वर्तमान शैक्षणिक सत्र से ही सेमेस्टर सिस्टम को लागू करने की वैधता पर भी जुलाई में सुनवाई करेगी। डीयू ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दयाल सिंह कॉलेज के शिक्षकों के खिलाफ अवमानना के आरोप में मुकदमा चलाने की मांग की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आंतरिक कलह का नुकसान छात्रों को भुगतना होगा