DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धोनी के धमाके से जीता चेन्नई, दिल्ली बाहर

धोनी के धमाके से जीता चेन्नई, दिल्ली बाहर

कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और शानदार फार्म में चल रहे एस बद्रीनाथ के अर्धशतकों की बदौलत चेन्नई सुपर किंग्स ने गुरुवार को वीरेंद्र सहवाग के बिना खेल रही दिल्ली डेयरडेविल्स को 18 रन से हराकर सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर कर दिया।
     
चेन्नई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट पर 176 रन बनाए। जवाब में दिल्ली की टीम छह विकेट पर 158 रन ही बना सकी। इरफान पठान ने 34 गेंद में 44 और वेणुगोपाल राव ने 20 गेंद में 30 रन बनाए लेकिन टीम की हार को नहीं टाल सके। चेन्नई के लिए आर अश्विन और डवेन ब्रावो ने दो-दो विकेट लिए।

चेन्नई के लिए धोनी ने 31 गेंद में पांच चौकों और चार छक्कों की मदद से 63 रन बनाए। उन्होंने इरफान पठान को आखिरी दो गेंद पर दो छक्के लगाए। दूसरी ओर बद्रीनाथ ने 43 गेंद में 55 रन बनाए जिसमें छह चौके और एक छक्का शामिल था।

वेस्टइंडीज दौरे के लिए भारतीय टीम में जगह लगभग पक्की कर चुके बद्रीनाथ ने अपने फार्म को बरकरार रखते हुए बेहतरीन पारी खेली। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 9.2 ओवर में 96 रन जोड़े। आखिरी दो ओवर में 37 और आखिरी दस ओवर में 109 रन बने।

डेयरडेविल्स के लिए अजित अगरकर काफी महंगे साबित हुए जिन्होंने चार ओवर में 49 रन दिए। पठान ने चार ओवर में 40 रन दिए। इस जीत के बाद चेन्नई 12 मैच में 16 अंक लेकर शीर्ष पर पहुंच गया है। वहीं दिल्ली 12 मैच में आठ अंक लेकर आठवें स्थान पर खिसक गया है।

चेन्नई की पारी का आकर्षण रहे धोनी ने आते ही अगरकर को चौका लगाकर अपने तेवर जाहिर कर दिए थे। इसके बाद उन्होंने एंड्रयू मैकडोनाल्ड को छक्का लगाया। धोनी और बद्रीनाथ ने शाट खेलने के लिए ढीली गेंदों का इंतजार किया। अगरकर के दूसरे स्पैल में धोनी ने उनकी जबर्दस्त धुनाई की। दूसरी ओर से बद्रीनाथ ने धोनी को ज्यादा से ज्यादा स्ट्राइक दी।

इससे पहले टास जीतकर बल्लेबाजी चुनने वाली चेन्नई की शुरूआत खराब रही। पठान ने खतरनाक माइक हस्सी (पांच) को पहले ही ओवर में आउट कर दिया। सुरेश रैना (14) ने मैकडोनाल्ड को चौके और छक्के के साथ शुरूआत की। वरूण आरोन की शार्टपिच गेंद पर हुक शाट खेलने के प्रयास में वह हालांकि डीप फाइन लेग में पठान को कैच दे बैठे।

इस बीच मुरली विजय ने 33 गेंद में दो चौकों और दो छक्कों की मदद से 35 रन बनाए। विजय को 22 के स्कोर पर जीवनदान मिला जब आरोन की गेंद पर दिल्ली के कप्तान जेम्स होप्स उनका कैच नहीं लपक सके।

अगले ओवर की पहली गेंद पर बायें हाथ के स्पिनर शाहबाज नदीम उनका रिटर्न कैच नहीं लपक सके। उस समय विजय का स्कोर 23 रन था। वह इसमें 12 रन ही जोड़ सके। अगरकर की गेंद पर सीमा रेखा के पास वेणुगोपाल राव ने उनका कैच लपका।

दिल्ली की शुरूआत आक्रामक रही। नमन ओझा और डेविड वार्नर ने आक्रामक शाट खेले लेकिन विकेटों का पतन शुरू होने से टीम दबाव में आ गई।

ओझा ने 14 गेंद में तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से 25 रन बनाए। वहीं वार्नर ने 25 गेंद में 21 रन बनाए। ओझा को तीसरे ओवर में मोर्कल ने जकाती के हाथों लपकवाया।

कोलिन इंगराम (सात) अश्विन का शिकार हुए। वहीं वार्नर को ब्रावो ने पवेलियन भेजा। इसके बाद पठान और राव ने तीसरे विकेट के लिए 43 रन की साझेदारी की जो दिल्ली की सबसे बड़ी साझेदारी थी। इसे अश्विन ने राव को पवेलियन भेजकर तोड़ा। इसके बाद कोई बल्लेबाज पठान का साथ नहीं दे सका। पठान ने 34 गेंद में तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से 44 रन बनाए। राव ने 20 गेंद में 30 रन की पारी खेली जिसमें दो चौके और दो छक्के शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:धोनी के धमाके से जीता चेन्नई, दिल्ली बाहर