DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ओबामा की बल्ले-बल्ले

वर्ष 2012, अक्टूबर का महीना। बराक ओबामा राष्ट्रपति चुनाव के प्रचार के लिए कई शहरों का दौरा कर रहे हैं। हर जगह उनके भाषण पर जोरदार तालियां बज रही हैं। वे चार साल के अपने काल की उपलब्धियां गिना रहे हैं- मैंने देश को गहरे आर्थिक संकट से निकाला। गरीबों के लिए मुफ्त से लेकर सस्ती बीमा पॉलिसी का इंतजाम किया, स्वास्थ्य बिल को पारित कराने में कामयाब हुआ। इराक से और बाद में अफगानिस्तान से अपने बहादुर फौजियों को वापस बुलाने का वायदा पूरा किया।

लेकिन उन्होंने जब अपनी आखिरी उपलब्धि का जिक्र किया, तो उन्हें तालियां ही तालियां सुनने को मिलीं। ओसामा का सफाया करके हमने विश्व के सबसे खतरनाक चरमपंथी संगठन अल कायदा का सिर काट दिया है।

करीब डेढ़ साल पहले अमेरिकी राष्ट्रपति ने सीआईए को पाकिस्तान के शहर एबटाबाद के एक घर में अल कायदा के नेता बिन लादेन के खिलाफ कार्रवाई की अनुमति दी थी, लेकिन वह एक बहुत कठिन फैसला था।

ओसामा की मौत के बाद उनकी लोकप्रियता की चर्चा होने लगी। ओसामा के मारे जाने के चार दिन बाद ही राष्ट्रपति ओबामा की रेटिंग 11 प्रतिशत बढ़ गई और वह देश के हीरो हो गए थे। बिन लादेन की मौत ने अमेरिकी राष्ट्रपति का कल्याण कर दिया। उस हमले के बाद से ही राष्ट्रपति की लोकप्रियता सातवें आसमान को छूने लगीं। छह नवंबर, 2012 के मतदान में वह दोबारा राष्ट्रपति चुने जा सकते हैं। अगर उनकी हार हुई, तो उनकी किसी भारी गलती से ही हो सकती है।      

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ओबामा की बल्ले-बल्ले