DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिर से सनसनी फैलाना चाहेंगे किंग्स

फिर से सनसनी फैलाना चाहेंगे किंग्स

लगातार पांच हार के बाद मुंबई इंडियंस की दिग्गज टीम पर जीत दर्ज आत्मविश्वास में लौटी किंग्स इलेवन पंजाब की टीम यहां शुक्रवार को आईपीएल-4 मुकाबले में कोच्चि टस्कर्स केरल के खिलाफ उतरेगी तो उसका मकसद टूर्नामेंट में एक और जोरदार जीत दर्ज कर फिर से सनसनी फैलाने का होगा।
 
जीत की राह भूल चुके पंजाब ने जिस अंदाज में मुंबई को रौंदा, उससे इतना तो स्पष्ट है कि वह प्लेऑफ से बाहर होने के बावजूद अंतिम क्षण तक संघर्ष करने के लिए तैयार है। हालांकि दोनों टीमें प्लेऑफ दौर से पहले ही बाहर हो चुकी हैं इस कारण ज्यादा से ज्यादा अंकों के साथ टूर्नामेंट को अलविदा कहने की चाहत दोनों पर हावी रहेगी।
 
दिलचस्प है कि आईपीएल-4 में पहली बार दो टीमें किसी तटस्थ मैदान पर भिडेंगी और मध्य प्रदेश में यह पहला आईपीएल मैच है इसलिए दोनों ही यह मैच जीतकर अपने नाम बेहतर रिकॉर्ड रखना चाहेंगी। आंकडों में कोच्चि का पलडा भारी है लेकिन बेंगलोर के हाथों पिछले मैच में मिली नौ विकेट की करारी हार से उसका मनोबल कमजोर हुआ होगा वहीं उससे मामूली फासले पर खड़े पंजाब के हौसले मुंबई को रौंदकर सातवें आसमान पर पहुंच गए हैं। कोच्चि ने अब तक 11 मैचों से 10 अंक हासिल किए हैं जबकि किंग्स के 10 मैचों से आठ अंक हैं। इस तरह अगर किंग्स यह मुकाबला जीत ले तो अंकतालिका में दोनों लगभग बराबरी पर आ जाएंगे।
 
पंजाब की टीम में शॉन मार्श और पॉल वॉल्थाटी जैसे दिग्गज बल्लेबाजों की मौजूदगी भी उसका दावा मजबूत बनाती है और पिछले मैच में गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन ने टीम की इस कमजोर कड़ी को भी कुछ आत्मविश्वास दे दिया है।

कोच्चि और किंग्स दोनों के लिए सुखद है कि उनके कप्तान माहेला जयवर्धने और एडम गिलक्रिस्ट टूर्नामेंट में उपयोगी बल्लेबाजी करते आए हैं और दोनों के पास विस्फोटक ओपनर मौजूद हैं। आतिशी बल्लेबाजी के लिए कोच्चि के पास ब्रेंडन मैकुलम हैं तो पंजाब के पास वॉल्थाटी और मार्श।
 
मध्यक्रम में कोच्चि पंजाब पर बीस मालूम पड़ती है। रवीन्द्र जडेजा और ब्रैड हॉज समय समय पर विस्फोट करते रहे हैं वहीं पंजाब का मध्यक्रम अब तक कोई प्रभाव नहीं दिखा सका है। बल्लेबाजी में यही अंतर दोनों टीमों के बीच फर्क पैदा करता है।
 
गेंदबाजी में कोच्चि का दारोमदार आईपीएल-2 के पर्पल कैपधारी रुद्र प्रताप सिंह तथा दिल्ली के खिलाफ मैच में वीरेन्द्र सहवाग को आउट कर रातों रात स्टार बने प्रशांत परमेश्वरन पर रहेगा। हालांकि पिछले मैच में क्रिस गेल ने परमेश्वरन के एक ओवर में 37 रन लूटकर हडकंप मचा दिया था लेकिन इस बुरे सपने को भूलकर उन्हें नए जोश के साथ उतरना होगा।
 
इनके अलावा आर विनय कुमार भी अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं जबकि पार्ट टाइम में रैफी गोमेज, रवीन्द्र जडेजा और रमेश पोवार से उपयोगी योगदान की उम्मीद कप्तान जयवर्धने को रहेगी। वहीं केरल एक्सप्रेस शांतकुमारन श्रीसंत फिर से अंतिम एकादश में लौटने की उम्मीद लगाए बैठे होंगे।
 
पंजाब की गेंदबाजी ऑस्ट्रेलियाई रेयान हैरिस और पीयूष चावला पर निर्भर रहेगी। भार्गव भट्ट ने मुंबई के खिलाफ जो गजब की लय दिखाई उसे बरकरार रखने की उम्मीद गिली कर रहे होंगे। वॉल्थाटी ने कुछ मैचों में ऑलराउंड प्रदर्शन किया है। अगर वह चल पाते हैं तो टीम के लिए सोने पर सुहागा साबित होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फिर से सनसनी फैलाना चाहेंगे किंग्स