DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तो निकल नहीं पाएंगे आतंकी

आतंकवादियों, तस्करों और अपराधियों के लिए अब समुद्र के रास्ते भारत में घुसने के सारे रास्ते सील करने की तैयारी हो रही है। अपने प्रभाव वाले समुद्री क्षेत्र की जानकारी देने वाली नौसेना की मैरिटाइम डोमेन अवेयरनेस (एमडीए) परियोजना पूरी होने पर हिन्द महासागर क्षेत्र में मौजूद किसी भी जहाज, यहां तक कि छोटी से छोटी नाव पर भी उपग्रह की मदद से सैंकड़ों मील दूर बैठ कर नजर रखी जा सकेगी।

भारतीय मछुआरों की नौकाओं के आंकड़ों का संग्रह, मछुआरों का बायोमिट्रीक पहचान पत्र, भारतीय क्षेत्र में मौजूद मित्र देशों के सभी पोतों के सिग्नल, कोड आदि की पहचान होगी। मछुआरों की नौकाओं पर एक खास तरह का ट्रांसपोंडर होगा, जिससे उपग्रह के जरिए उसकी पहचान की जा सकेगी। बड़े व्यापारिक जहाजों और जंगी पोतों पर पहले ही राडार और ट्रांसपोंडर लगे रहते हैं।

एमडीए की मदद से युद्ध के समय हमारा कौन सा जंगी पोत कहां क्या कर रहा है, उसकी सटीक जानकारी दिल्ली स्थित नौसेना मुख्यालय के ऑपरेशंस रूम में रखे कंप्यूटर मॉनिटर पर देखी जा सकेगी। इससे सीनियर कमांडर अपनी रणनीति में फौरी फेरबदल कर दुश्मन को हक्का-बक्का कर सकेंगे।

(दिल्ली संस्करण)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तो निकल नहीं पाएंगे आतंकी