DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आवासों के घपले में फंसे एसडीएम सदर

आगरा जिले के तहसील सदर के उपजिलाधिकारी अनिल कुमार घपले में फंस गए हैं। बरेली जिले में उप जिलाधिकारी (एसडीएम) के पद पर रहते हुए उन्होंने 26 अपात्रों को आवास आवंटित कर दिया।

मानकों की खूब धज्जियां उड़ाई और सरकारी आदेश को दरकिनार किया। यह खुलासा बरेली जिले के अपर जिलाधिकारी प्रशासन राधेश्याम मिश्र की जाँच में हुआ है। उन्होंने इस जाँच के बारे में डीएम आगरा अजय चौहान को बताया है। साथ ही अनिल कुमार से 15 दिनों के भीतर स्पष्टीकरण उपलब्ध कराने के लिए कहा है।

प्रकरण कुछ ऐसा है। अनिल कुमार वर्ष 2009-10 में बरेली जिले के प्रह्लादपुर तहसील में तैनात रहे। इस दौरान उनके द्वारा 97 व्यक्तियों को विभिन्न योजनाओं में आवासों का आवंटन किया गया। आवास किसे दिए जा रहे हैं, इसका सत्यापन नहीं किया। गरीबों के आवासों पर अफसरों ने सेंध लगा दी पर 12 जनवरी 10 को हुई एक शिकायत में भंडाफोड़ हो गया।

बरेली के डीएम के आदेश पर जाँच हुई तो पता चला कि 26 आवंटी अपात्र हैं, जिनके पास सरकारी मकान हैं और अच्छी खासी जमीन भी है। लेकिन एसडीएम अनिल कुमार ने ऐसे लोगों को भी आवास आवंटित कर दिया है तभी अनिल कुमार का तबादला आगरा जिले के लिए हो गया। आगरा जिले में पहले उन्हें एसीएम द्वितीय बनाया गया फिर एसडीएम खेरागढ़ के पद पर भेज दिया गया। इस समय में अनिल कुमार एसडीएम सदर के पद पर कार्य कर रहे हैं। बरेली जिले के अपर जिलाधिकारी प्रशासन राधेश्याम मिश्र ने बताया कि मंगल खां पुत्र नत्थू खां, सुल्तान खां, राममूर्तिलाल, नौशद अली, नबी अहमद सहित 26 लोग अपात्र मिले हैं। इनके आवास के पट्टों को निरस्त कर दिया गया है। नायब तहसील के निलंबित कर दियागया है। जबकि तत्कालीन एसडीएम सदर, बरेली अनिल कुमार से स्पष्टीकरण तलब किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आवासों के घपले में फंसे एसडीएम सदर