DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नौकरी के लिए तरह-तरह के भिड़ाए जुगत

विधानसभा में नौकरी के लिए जो जुगत भिड़ाए गए वे बेहद चौंकाने वाले हैं। पूर्व विधानसभाध्यक्ष सदानंद सिंह के इस लपेटे में आने के बाद कई कोण से जांच शुरू हो गई है। जांच में परत दर परत नए-नए तथ्य सामने आए हैं। कापी किसी की लिखी किसी ने। कई कापियां ऐसी मिली हैं जिनमें सफल अभ्यर्थियों के हस्ताक्षर व कापी की लिखावट बिलकुल भिन्न है। कापियों के प्राप्तांक अलग-अलग हैं। यही नहीं बगैर वित्त विभाग की अनुशंसा लिए निमA वर्गीय लिपिकों की बहाली कर ली गई है। और तो और सफलता दिलाने के लिए जमकर मनमाने तरीके अपनाए गए। महालेखाकार ने भी इस पर आपत्ति की है।

सफल अभ्यर्थियों की कापियों में जमकर नम्बर दिए गए। किसी ने क्या लिखा, इससे कोई मतलब नहीं बल्कि लिस्ट में वे कैसे आएं इसकी पूरी तैयारी की गई। निगरानी को जो जानकारी मिली है, वे हैरतअंगेज हैं। ‘अपनों’ को सफलता दिलाने के लिए सारे नियम कानून ताक पर रख दिए गए। यहां तक कि विज्ञापन में साक्षात्कार का उल्लेख नहीं होने के बावजूद 25 अंकों का साक्षात्कार रखा गया। इसमें वीआईपी अभ्यर्थियों को मनमाना अंक दिया गया। सबसे आश्चर्यजनक तो यह है कि साक्षात्कार में 30 गुना अधिक अभ्यर्थियों को बुलाया गया, ताकि अपनों को लिस्ट में जगह मिल सके। मात्र 87 पदों के लिए 2544 लोगों को इंटरव्यू के लिए बुलावा भेजा गया।

परीक्षा की कापियों में मनमाना अंक देने के साथ-साथ एक-एक कापी में कई-कई बार अंक दिये गए हैं। अंक देने में कई बार कटिंग की गई है। सफल अभ्यर्थियों में कई शीर्ष पर बैठे लोगों के पुत्र, पुत्री, बहनोई, साले या निकट के अन्य रिश्तेदार हैं। सदानंद सिंह ने वर्ष 2000 से 2005 के बीच 300 से अधिक बहालियां की। इनमें 200 से अधिक पहले ही रद्द हो चुकी है। इनपर विवाद है। अब 90 की जांच हो रही है।

लपेटे में आए:
सदानंद सिंह (अध्यक्ष), झौरी प्रसाद पाल (सचिव), रामेश्वर सिंह (अवर सचिव), कामेश्वर प्रसाद सिंह (अध्यक्ष के आप्त सचिव), उप सचिव राजकिशोर रावत, नवल किशोर सिंह, वशिष्ठदेव तिवारी, ब्रजकिशोर सिंह, अरूण कुमार, पुरूषोत्तम मिश्र, बैजू प्रसाद सिंह (अवर सचिव), सुबोध कुमार जायसवाल (प्रशाखा पदाधिकारी) के अलावा निमAवर्गीय लिपिक प्रेरणा कुमारी, अवधेश कुमार सिंह, संजीव कुमार, राकेश कुमार, नवीन कुमार, सत्यनारायण, नीरज आनंद, पंकज कुमार राय, देव कुमार, मनीष कुमार, संजीव कुमार सिंह, वसीम अहमद, राकेश कुमार सिंह, फिरोज अख्तर खां, सुषमा, भगवान प्रसाद, रंजीत प्रसाद, राजीव कुमार सिंह, रतन कुमार, संजय कुमार रावत, अमरेन्द्र कुमार सिंह, अजरुन कुमार सिंह, उषा कुमारी, प्रफुल्ल चन्द्र पासवान, मिथिलेश कुमार मिश्र, सूर्यनारायण राम, मो. सिकन्दर आलम, संगीता कुमारी सिंह, संजय कुमार सिंह शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नौकरी के लिए तरह-तरह के भिड़ाए जुगत