DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली संकट को लेकर दिल्ली में दस्तक देंगे मुख्यमंत्री

बिहार के बिजली संकट को लेकर भूटान की पनबिजली परियोजनाओं में संभावनाएं देखकर लौटे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अब दिल्ली में दस्तक देंगे। ऊर्जा के मामले में लगातार भेदभाव झेल रहे बिहार के मामलों को लेकर वह गुरुवार को केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री सुशील कुमार शिंदे से मिलेंगे। इस दौरान बिहार का बिजली कोटा बढ़ाने, कोल लिंकेज और भूटान की पनबिजली परियोजना में बिहार की सहभागिता पर बात होगी। ग्रामीण विकास से जुड़े मुद्दों को लेकर सीएम ग्रामीण विकास मंत्री विलासराव देशमुख से भी मिलेंगे। बुधवार रात मुख्यमंत्री दिल्ली के एक दिवसीय दौरे पर रवाना हुए।

गर्मी के मौसम में केन्द्रीय कोटे में कटौती के कारण बिहार इन दिनों गंभीर बिजली संकट के दौर से गुजर रहा है। बिहार को सामान्य तौर पर 2500 से 3000 मेगावाट बिजली की जरूरत है। इसमें 1695 का कोटा निर्धारित है, ल्ेकिन इन दिनों 800 से 1000 मेगावाट बिजली मिल रही है। कई दिन तो मात्र 450 मेगावाट ही बिजली मिली। इसमें भी अनिवार्य सेवा के तहत रेलवे, नेपाल और डिफेंस को बिजली जाती है। बिहार का संकट है कि गर्मी में बांग्लादेश को पानी देने के वजह से फरक्का यूनिट ठप हो जाती है। इसका कोई वैकल्पिक इंतजाम नहीं है। इसके चलते प्रदेश घोर बिजली संकट में फंस जाता है।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री के समक्ष बिहार का बिजली कोटा बढ़ाने की मांग प्रमुखता से रखेंगे। साथ ही बाढ़ और अन्य प्लांटों से बिहार का बिजली का हिस्सा बढ़ाने की भी बात करेंगे। भूटान में भारत सरकार के सहयोग से पनबिजली परियोजनाओं पर काम चल रहा है । मुख्यमंत्री का कहना है कि भूटान में पनबिजली की अपार संभावना है। ऐसे में बिहार को वहां की परियोजना में शेयर लगाने की अनुमति मिलनी चाहिए। इससे बिहार बिजली के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनेगा।
--
इन मुद्दों पर केन्द्र से होगी चर्चा
-बिहार का कोटा बढ़ाया जाए
-फरक्का बंद होने की स्थिति में वैकल्पिक इंतजाम हों
-कोल लिंकेज मिले
-बाढ़ सहित अन्य निर्माणाधीन और पुरानी परियोजनाओं में राज्य का कोटा बढ़ाया जाए
-निर्माणाधीन परियोजनाओं की गति तेज की जाए
-भूटान की पुनाशांग्चू की परियोजनाओं से 1500 मेगावाट बिजली मिले
-भूटान की पनबिजली परियोजना में बिहार को शेयर लगाने की अनुमति मिले
-राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण के तहत ज्यादा क्षमता के ट्रांसफर्मर लगाए जाएं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिजली संकट को लेकर दिल्ली में दस्तक देंगे मुख्यमंत्री