DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किसान दुर्दशाः राहुल बोले भारतीय होने पर शर्मिंदा हूं

तपती चुभती गर्मी में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के आंदोलनरत किसानों की सुध लेने पहुंचे कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी देश के अन्नदाताओं की दुर्दशा देखकर इस कदर आहत हुए कि उन्होंने खुद के भारतीय होने पर शर्मिंदगी का इजहार किया।
    
बुधवार तड़के मोटर साइकिल के पीछे बैठकर राज्य में आंदोलनरत किसानों के गढ़ भट्टा परसौल गांव पहुंचे राहुल गांधी भीषण गर्मी के बावजूद दिनभर किसानों के साथ बैठे। किसानों को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि यहां जो कुछ हो रहा है, उसे देखकर मुझे खुद को भारतीय कहते हुए शर्म आ रही है। राज्य सरकार यहां अपने ही लोगों पर अत्याचार कर रही है।

करीब 12 घंटे तक किसानों के बीच रहकर उनकी समस्याओं को सुनने के साथ ही उनके दुख में साझीदार बने राहुल ने कहा कि वह उनके साथ हैं क्योंकि वह अपने हक की मांग कर रहे हैं, जिसमें कुछ भी गलत नहीं है।

राहुल और कांग्रेस जिंदाबाद के नारे लगाती हजारों की भीड़ को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मैं आपसे कहना चाहता हूं कि मैं तब तक आपके साथ हूं, जब तक आपकी मांगे पूरी नहीं हो जातीं। जब तक आपका काम पूरा नहीं होगा, कांग्रेस पार्टी आपको अकेला नहीं छोड़ेगी। इस पर किसानों ने जोरदार तालियां बजाईं।

राहुल ने शनिवार को किसानों और पुलिस के बीच हुई गोलीबारी की न्यायिक जांच की मांग की, जिसमें दो किसानों और दो पुलिसकर्मियों की मृत्यु हो गई थी।

इससे पूर्व बुधवार सुबह वह पार्टी सहयोगी दिग्विजय सिंह के साथ तड़के चार बजे गांव पहुंचे और किसानों के साथ बैठकर चाय पी। इस दौरान वह कई स्थानों पर गए। एसडीएम विशाल सिंह ने राहुल से मिलकर उन्हें सुरक्षा कारणों से धरना समाप्त करने को कहा, लेकिन युवा कांग्रेसी नेता ने किसानों की मांगें पूरी होने से पहले वहां से हटने से इनकार कर दिया। उनकी मांगों में हिरासत में लिए गए किसानों को मुक्त करना भी शामिल है।

दिग्विजय सिंह ने कहा कि किसानों पर दाखिल की गई किसी भी एफआईआर पर कानूनी जांच होने से पहले कार्रवाई ना हो। उन्होंने सभी गिरफ्तार किसानों की रिहाई और जबरन जमीन ना कब्जाने की मांग की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:किसान दुर्दशाः राहुल बोले भारतीय होने पर शर्मिंदा हूं