अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डॉक्टर हड़ताल पर अड़े, नौ मर

मारपीट की घटना से गुस्साये ‘रिम्स’ के जूनियर डॉक्टरों ने हड़ताल तोड़ने से साफ मना कर दिया है। रविवार को स्वास्थ्य मंत्री भानु प्रताप शाही के साथ जूनियर डॉक्टरों की समझौता वार्ता फेल हो गयी। डॉक्टरों ने कहा कि जबतक उनकी मांगें नहीं मानी जाती, हड़ताल जारी रहेगी।ड्ढr हड़ताल नहीं तोड़ने पर मंत्री ने जूनियर डॉक्टरों पर कार्रवाई की चेतावनी देते हुए वैकल्पिक व्यवस्था करने की बात कही। मंत्री ने कहा कि हड़ताल से निपटने के लिए सेना की मदद ली जायेगी। साथ ही पीएचसी से कांट्रैक्ट डॉक्टरों को प्रतिनियुक्त किया जायेगा। इलाज बाधित करने वाले डॉक्टरों से प्रशासन निपटेगा। इधर, जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल से रिम्स की चिकित्सा व्यवस्था चरमरा गयी है। पहले 24 घंटे में ही नौ मरीाों की मौत हो गयी। हालांकि रिम्स प्रबंधन मौतों का कारण इलाज का अभाव नहीं बता रहा। इससे पहले 12 बजे रिम्स के विभागाध्यक्षों और एचओडी के साथ मंत्री ने बैठक की। इसमें मंत्री ने सीनियर डॉक्टरों से हड़ताल तुड़वाने को कहा।ड्ढr बैठक में जूनियर डॉक्टरों को भी बुलाया गया। छात्रों ने कहा कि उनको पुख्ता सुरक्षा दी जाये। साथ ही मारपीट में किसी भी डॉक्टर पर नामजद प्राथमिकी दर्ज नहीं हो। पार्षद जावेद अख्तर और उनके साथियों को गिरफ्तार कर कार्रवाई की जाये। बरियातू थाना प्रभारी वकार हुसैन और डीएसपी महेश राम पासवान को बर्खास्त किया जाये। रिम्स में चारों ओर चहारदीवारी का निर्माण तथा बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगायी जाये। निर्माणाधीन शॉपिंग कांप्लेक्स का निर्माण रोका जाये और उन्हें पुनरीक्षित वेतनमान का लाभ दिया भी जाये। इसमें कई मांगों पर सहमति हुई। हालांकि थाना प्रभारी को हटाने के मामले पर सहमति नहीं बन सकी।ड्ढr बैठक में मौजूद डीसी डॉ राजीव अरुण एक्का और एसएसपी संपत मीना ने कहा कि जबतक जांच रिपोर्ट नहीं आ जाती, वे लोग कोई कार्रवाई नहीं कर सकते। जांच मजिस्ट्रेट से हो रही है। छात्र इसपर राजी नहीं हुए और हड़ताल जारी रखने का निर्णय लिया। छात्रों के इस व्यवहार पर स्वास्थ्य मंत्री खफा हो गये। उन्होंने कहा कि डॉक्टरों पर कानूनी कार्रवाई होगी।ड्ढr उन्होंने रिम्स के डायरक्टर डॉ एनएन अग्रवाल और अधीक्षक डॉ आइबी प्रसाद को इमरोंसी चालू कराने का निर्देश दिया। इमरोंसी में पुलिस बल की तैनाती की गयी है, ताकि जूनियर डॉक्टर कोई व्यवधान नहीं कर सके। अपराह्न तीन बजे पुलिस की देखरख में इमरोंसी को चालू किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डॉक्टर हड़ताल पर अड़े, नौ मर