DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंचायत में तलाक के फरमान पर विवाहिता ने दे दी जान

पडरौना कोतवाली क्षेत्र के ग्राम हरका बैजनाथ मल में पंचायत द्वारा तलाक का फरमान सुनाये जाने से क्षुब्ध विवाहिता ने मौत को गले लगा लिया। ससुराल वालों ने सबूत मिटाने के लिए शव जलाने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस मौके पर पहुंच गई और उसने अधजला शव बरामद कर लिया।

कुबेर स्थान थाना क्षेत्र के ग्राम सेखवनिया खुर्द निवासी दिलजान की पुत्री सैरुननिशा की शादी कोतवाली क्षेत्र के ग्राम हरका बैजनाथ मल के हदीश के बेटे रब्बिल के साथ हुई थी। शराब पीने के सवाल पर हमेशा पति व पत्नी में विवाद होता था। इस पर सैरुननिशा नाराज होकर कई बार मायके चली गई थी। फिर पति द्वारा मनाने पर वह ससुराल लौट आई। मगर पति की शराब पीने की आदत नहीं छूट सकी और विवाद बढ़ता गया। मामला पंचायत स्तर तक पहुंच गया। दस दिन पूर्व सैरुन के मायके वाले भी उसके ससुराल आ गए और पंचायत बैठी।

पंचायत ने यह हुक्म सुना दिया कि रब्बिल उसे तलाक दे दे। सैरुन के मायके वाले पंचायत का फरमान सुन वापस आ गए लेकिन तलाक की बात किसी ने सैरुन से नहीं बताई। बात-बात में सैरुन को उसकी बहन ने तलाक होने की बात बता दी। इसके बाद वह सोमवार को सुबह घर वालों से बिना बताए ससुराल पहुंच गई।

रात में उसने फूस के घर में गले में फन्दा कसकर जान दे दी। ससुरालियों ने घटना की सूचना मायके वालों या पुलिस को देने के बजाय सबूत नष्ट करने के लिए फूस के घर में आग लगा दी। सैरून के पिता दिलजान की सूचना पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंच कर शव को कब्जे में ले लिया। इस सम्बन्ध में कोतवाली प्रभारी काजी मु.इब्राहिम का कहना है कि मामले की छानबीन की जा रही है दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तलाक के फरमान पर विवाहिता ने दे दी जान