DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कलेगनर के खातों में करोड़ों का कालाधन

टूजी घोटाले मामले में सीबीआई की अहम गवाह एस. मीनाक्षी (डिप्टी रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज, चेन्नई) ने कलेगनर टीवी की सालाना बैलेंस शीट(लेन देन का पक्का चिट्ठा) से कई चौंकाने वाले राज का पर्दाफाश किया है। वर्ष 2008, 2009 तथा 2010 की बैलेंस शीट में गड़बड़ियां सामने आई हैं।

31 मार्च, 2008 की बैलेंस शीट में 50 करोड़ एक लाख 58 हजार का अनसिक्योर्ड लोन दिखाया गया है। यह लोन कंपनी के डायरेक्टर की तरफ से आया। लेकिन लोन के बारे यह नहीं बताया गया कि डायरेक्टर के पास यह लोन कहां से आया। ना ही इस बात का जिक्र कि लोन दूसरों से लिया गया।

सूत्रों के अनुसार, इसी तरह की गड़बड़ी 31 मार्च, 2009 की बैलेंस शीट में पाई गई हैं। आरओसी की डिप्टी रजिस्ट्रार मीनाक्षी ने पूछताछ के दौरान अधिकारियों को बताया कि वर्ष 2009 के पक्के चिट्ठे में अनसिक्योर्ड लोन 58 करोड़ 69 लाख 35 हजार 57 रुपये दिखाया गया है। यह लोन भी डायरेक्टर की तरफ से दिखाया गया, लेकिन इस बात का कहीं भी जिक्र नहीं किया गया कि इन लोन की रकम कंपनी के किस डायरेक्टर की तरफ से मुहैया कराई गई।

सूत्रों ने बताया कि 31 मार्च, 2010 की बैलेंस शीट में 214 करोड़ 86 लाख 54 हजार 109 रुपये का लोन दिखाया गया। लेकिन बैलेंस शीट में इस बात का जिक्र नहीं किया गया कि यह रकम किस कंपनी से प्राप्त की गई। इस तरह कलेगनर टीवी की तीन साल की बैलेंस शीट से उसके काले धन का खुलासा हुआ है व अन्य गड़बड़ियां मिली हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कलेगनर के खातों में करोड़ों का कालाधन