DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल डरता है, पर अल्लाह निकाह मुबारक करे

तपती गरमी के बीच-बीच बादल और बारिश की राहत भी एक अजूबा है अप्रैल-मई में। ऐसी ही ठंडी हवा में मौलाना लादेन काफी तरकैट थे। पान की जुगाली करते हुए अपनी मुर्गियों को समझा रहे थे कि भ्रष्टाचार किस अंडे की देन है। मुझे हंसी छूट गई।

मौलाना गुर्राए, ‘हंसो मत! सारा देश भ्रष्टाचार से वाकिफ हो चुका है। बस मुर्गियों और कबूतरों को समझाना बाकी है। कल को इन पक्षियों तक भ्रष्टाचार पहुंच गया, तो बिना माल-मलाई खाए अंडा देने से इनकार कर देंगी। यह मुरदार करप्शन चीज ही ऐसी है कि डेंगू के मच्छरों की तरह पंख पसारती जाती है। जिसके बाप-दादों ने कभी ऊपर की चवन्नी भी न ली, वह हजार से नीचे फाइल आगे सरकाने से मुकर जाता है मियां।’

मुर्गियों को दड़बे में भेजकर मौलाना ने एक सप्लीमेंट्री पान जमाया और बोले, ‘खैर! न्यूजों से मन हल्का करो। छपा है कि चार हजार से अधिक सुरक्षा सैनिक थे ब्रिटेन की शाही शादी में। या खुदा, शादी है या जंग। बड़े लोगों की बड़ी बातें। मेरे अब्बू कहा करै थे कि बड़े घरों के कुत्ते भी अखबार पढ़ते हैं। प्रिंस विलियम और केट मिडिलटन की इस शाही शादी में विदेशों के दो हजार मेहमान और एक हजार गार्ड दूल्हा-दुल्हन के आजू-बाजू थे। इस तामझाम पर 290 करोड़ ओनली का खर्च आया। माल आया कहां से? अल्ला ने दिया।

मेरा तो दिल यह डरता है भाई मियां कि अल्ला न करे, कल को तलाक-वलाक हो गया (जो शाही परिवारों में कॉमन है), तो सारे झाड़-फानूस पर पानी फिर जाएगा। 350 साल बाद आम घराने की लड़की शाही बहू बनी है। ऐसे मौकों पर तुम्हारी कसम, हमें अपनी शादी याद आती है, जो बरतनों, हंडों, पानदान और थाल भर इमरती समेत टोटल साढ़े चार सौ रुपयों में हो गई थी। साथ में बीवी फ्री, जो आज तक हमारे दामन से हिल्गी हुई है। बारात में सुरक्षा के नाम पर पुलिस का एक रिटायर्ड मुंशी तक नहीं। अल्लाह निकाह मुबारक करे। हमारे मुल्क के रातोंरात एक झपट्टे में बने अरब-खरबपतियों के वहां की शादियों के जलवे भी देखेंगे प्रिंस विलियम! बस भ्रष्टाचार की जय बोलते रहो।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल डरता है, पर अल्लाह निकाह मुबारक करे