DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नोएडा के पूर्व सीईओ के खिलाफ सीबीआई जांच

सुप्रीम कोर्ट ने नोएडा के पूर्व सीईओ रवि माथुर के खिलाफ सीबीआई जांच का आदेश दिया है। माथुर पर प्लॉट कन्वर्जन, विद्युतीकरण के ठेकों में धांधली करने तथा मास्टर प्लॉन को अवैध रूप से बदलने को आरोप है।

जस्टिस जी.एस. सिंघवी तथा बी.एस. चौहान की खंडपीठ ने यह आदेश इस मामले में नोएडा की पूर्व सीईओ नीरा यादव की शिकायत पर दिया। नीरा यादव पहले के प्लॉट कन्वर्जन मामले में सीबीआई जांच के बाद दंडित हो चुकी हैं।

यादव ने 1998 में शपथपत्र दायर कर कहा था कि माथुर के खिलाफ भी सीबीआई जांच की जानी चाहिए और उनके कार्यकाल में पिछले 10 वर्षों के फैसलों की समीक्षा होनी चाहिए।

कोर्ट ने कहा कि रिटायर होने के कारण माथुर के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करना संभव नहीं है, लेकिन उनके विरुद्ध सीबीआई जांच की जा सकती है। लिहाजा सीबीआई को निर्देश दिया जाता है वह प्राथमिक रिपोर्ट दर्ज कर माथुर के खिलाफ जांच करे।

माथुर पर आरोप -नोएडा सेक्टर-32 की 13 हेक्टयर ग्रीन पार्क का लैंडयूज बदल कर इसमें 200 प्लॉट काटे -अपने नाम प्लॉट को बेहतर सेक्टर में कन्वर्ट करवाने का प्रयास -ग्रेटर नोएडा में अल्फा व बीटा सेक्टरों के विद्युतीकरण का ठेका अवैध रूप से एक ही व्यक्ति दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नोएडा के पूर्व सीईओ के खिलाफ सीबीआई जांच