DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लीबिया में डूबा पोत, 600 के मरने की आशंका

लीबिया में डूबा पोत, 600 के मरने की आशंका

लीबिया में त्रिपोली के बंदरगाह के निकट एक समुद्री पोत के डूब जाने से उसमें सवार लगभग सैकड़ों लोगों के मरने की आशंका जताई गई है। लीबिया में जारी संर्घर्ष को देखते हुए ये लोग वहां से पलायन करने की कोशिश कर रहे थे। पोत पर 600 लोग सवार थे।

समाचार एजेंसी आरआईए नोवोस्ती के मुताबिक फरवरी के मध्य से ही लीबिया में शुरू हुए इस संघर्ष में पहले ही हजारों लोगों की जानें जा चुकी हैं। नाटो सेनाओं के हमलों के बाद भी मुअम्मर गद्दाफी की सेना कड़ा संघर्ष कर रही है।

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी ने कहा है कि डूबी हुई पोत से अभी तक दो बच्चों सहित 16 लोगों के शव बरामद हो चुके हैं। रॉकेट से हमला किए जाने के बाद पोत डूब गई। यह इटली की ओर जा रही थी। नाटो सेनाओं ने हालांकि उन खबरों को खारिज किया है जिसमें कहा गया था कि एक अन्य पोत पर सवार लोग उनके हमलों में मारे गए थे।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने 17 मार्च को ही एक प्रस्ताव को मंजूरी दी थी, जिसके तहत लीबिया को नो-फ्लाई जोन घोषित किया गया था। व्हाइट हाउस की ओर से इस बात की कोई पुष्टि नहीं की गई। सीएनएन ने कहा कि वरिष्ठ पाकिस्तानी गुप्तचर सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान ओसामा की पत्नियों से अमेरिका को पूछताछ करने अथवा उन्हें हिरासत में तभी लेने देगा जब इस बारे में उनके मूल देश से इजाजत प्राप्त कर ली जाएगी।

इससे पहले दिन में व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जे कार्नी ने कहा कि अमेरिका ओसामा की पत्नियों तथा ओसामा के खिलाफ अभियान समाप्त करने के बाद ऐबटाबाद से रवाना होने के बाद पाकिस्तानी सुरक्षा बलों द्वारा एकत्रित सामग्री तक पहुंच बनाने के लिए पाकिस्तान के साथ कई स्तर की बातचीत कर रहा है।

उन्होंने कहा कि हम इस बारे में पाकिस्तान से बातचीत जारी रखेंगे। उन्होंने कहा कि हम पाकिस्तान के साथ सहयोगात्मक संबंध बनाए रखेंगे, क्योंकि ऐसा करना हमारे राष्ट्रीय हित में है।

'द न्यूयार्क टाइम्स' ने एक अन्य समाचार में कहा कि सीआईए निदेशक लियोन पनेटा अलकायदा के खिलाफ आम लड़ाई में आगे बढ़ने के बारे में चर्चा करने के लिए जल्द ही आईएसआई प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल अहमद शुजा पाशा से मुलाकात करेंगे।

गत रविवार को अमेरिका के ज्वाइंट चीफ्स |फ स्टाफ एडमिरल माइक मुलेन ने पाकिस्तान सेनाध्यक्ष जनरल अशफाक परवेज कयानी से मुलाकात की। लेकिन अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन और विदेश मंत्रालय ने इस बात की पुष्टि की कि ओसामा के मारे जाने के बाद से न तो रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स और न ही विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने पाकिस्तानी नेतृत्व को कोई फोन काल की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लीबिया में डूबा पोत, 600 के मरने की आशंका