DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तरक्की के लिए सोशल नेटवर्किंग का सहारा

तरक्की के लिए सोशल नेटवर्किंग का सहारा

सोशल नेटवर्किंग बेवसाइट अब सिर्फ चैट करने, सामाजिक संबंध मजूबत करने का माध्यम नहीं रह गई है। पिछले कुछ समय से युवाओं में इनके माध्यम से जॉब तलाशने का चलन बढ़ा है। हाल में ही ग्लोबल वर्कफोर्स सॉल्यूशन प्रोवाइडर कैली सर्विसेज द्वारा कराए गए सर्वे के अनुसार पांच में से एक जॉब तलाशने वाला व्यक्ति लिंक्डइन फेसबुक और ट्विटर जैसी सोशल नेटवर्किंग साइट्स का सहारा लेता है।

सर्वे के मुताबिक 35 प्रतिशत युवाओं नौकरी तलाशने और प्रमोशन के लिए सोशल नेटवर्किंग साइट का सहारा ले रहे हैं। अध्ययन में सामने आया कि नौकरी तलाशने में सोशल मीडिया का प्रयोग न केवल नौकरी तलाशने की प्रक्रिया को तेज कर देता है बल्कि इसे कम परेशानी और कम खर्चीला भी बना देता है। साथ ही इससे जॉब तलाशने वाला न केवल जॉब मार्केट को सही तरीके से समझ पाता है, कंपनियां भी कर्मचारियों को सही तरीके से समझ लेती है। सर्वे में एक प्रमुख बात ये सामने आई कि युवा सोशल नेटवर्किंग साइटों पर कंटेट डालने में भी सावधानी बरत रहे हैं क्योंकि वह नहीं चाहते कि इसका विपरीत असर उनके करियर पर पड़े। अध्ययन में सामने आया कि करीब 27 प्रतिशत लोगों ने इस बात को लेकर चिंता जताई कि सोशल नेटवर्किंग साइट पर किसी भी गलत कंटेट उनके करियर पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है।

27 प्रतिशत युवाओं ने माना कि सोशल नेटवर्किंग साइटों पर कंटेंट डालते समय एहतियात बरतना जरूरी
35 प्रतिशत युवा नौकरी और प्रमोशन के लिए कर रहे हैं सोशल नेटवर्किंग साइट का प्रयोग
05 में एक व्यक्ति जॉब तलाशने के लिए लेता है सोशल नेटवर्किंग साइट का सहारा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तरक्की के लिए सोशल नेटवर्किंग का सहारा