DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अनाज घोटाला : सीबीआई जांच अंतिम चरण में पहुंची

सीतापुर के चर्चित अनाज घोटाले की जांच लगभग अंतिम चरण में है। इस केस में अब सीबीआई गिरफ्तारी व चार्जशीट दाखिल करने की तैयारी में है। माना जा रहा है कि घोटाले की जद में कई बड़े नेताओं के साथ अधिकारी व कोटेदार भी आ सकते हैं।वर्ष 2002 से 2005 तक घोटालेबाजों ने बीपीएल अनाज बेचकर बांग्लादेश आदि स्थानों पर भेज दिया।

कोर्ट के निर्देश पर वर्ष 2010 में सीबीआई ने घोटाले की तफ्तीश शुरू की। सीबीआई ने दो माह में ताबड़तोड़ छापेमारी की। सबसे पहले जद में आए बसपा नेता महेश मिश्रा, उनके भतीजे के अलावा उनके सहयोगी बिसवां के राजेश अग्रवाल उर्फ राजू व नवदीप गुप्ता के घर व प्रतिष्ठानों पर भी छापे पड़े। इसके बाद सीबीआई ने तीन दिनों तक रुककर करीब 150 कोटेदारों के बयान लिए। सीबीआई ने पूरे मामले में एक-दो लोगों को सरकारी गवाह बना लिया है। इन सरकारी गवाहों से ही सीबीआई मुख्य अभियुक्तों की गर्दन तक पहुंचने के लिए प्रयासरत है।

आज डीएसओ ऑफिस आएगी टीमसीतापुर। सीबीआई टीम कल फिर एक बार जिले में होगी। सूत्र बताते हैं कि सीबीआई टीम के सदस्य जिला पूर्ति कार्यालय में अधूरे रह गए कुछ कागजातों को लेने आएगी। इसके अलावा वह कार्यालय से महत्वपूर्ण पत्रावलियां लेने के बाद कुछ लोगों से बयान भी लेगी। बताते हैं कि सीबीआई कुछ कोटेदारों के अलावा हैण्डलिंग के काम में लगे ट्रक मालिकों व ड्राइवरों से भी सीतापुर आकर पूछताछ कर सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अनाज घोटाला : सीबीआई जांच अंतिम चरण में पहुंची