DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली से लड़ेगा विपक्ष यूपी के किसानों की लड़ाई

दिल्ली से सटे उप्र के ग्रेटर नोएडा में किसानों पर पुलिस की गोलीबारी से खफा विपक्षी दलों ने किसानों का आंदोलन दिल्ली में एकजुट होकर चलाने का फैसला किया है। इसके लिए एनडीए के घटक दल जनता दल (यू) ने जंतर मंतर पर सभी घटक दलों के साथ अनिश्चित कालीन अनशन पर बैठने का फैसला किया है। जन यू की किसान सभा के अध्यक्ष महेन्द्र प्रकाश सिंह ने बताया कि सोमवार से ही संगठन के कार्यकर्ता अनशन पर बैठ गए है। सिंह ने बताया कि उत्तर प्रदेश की मायावती सरकार से किसानों का हक दिलाने के लिए एनडीए के सभी घटक एकजुट होकर इस आंदोलन में हिस्सा लेंगे। उन्होंने बताया कि आंदोलन की मुख्य मांग अंग्रेजों द्वारा 1894 में बनाए गए भूमि अधिग्रहण कानून में बदलाव पर केन्द्रित होगी।

जबकि मायावती सरकार के खिलाफ कार्रवाई, किसानों को उचित मुआवजा और किसानों के खिलाफ दर्ज किए गए मुकदमे वापस लेने की मांगों को शीघ्र मानने के लिए केन्द्र सरकार पर दबाव बनाया जाएगा। सिंह ने कहा कि इस आंदोलन में एनडीए के अलावा सभी विपक्षी दलों से हिस्सा लेने की अपील की गई है। इससे पहले ग्रेटर नोएडा में पुलिस और किसानों के बीच मुठभेड़ का गवाह बने भट्टा गांव जाने की कोशिश कर रहे विपक्षी दलों के नेताओं को पुलिस ने नोएडा में ही हिरासत में ले लिया।

इनमें जदयू अध्यक्ष शरद यादव, भाजपा के पूर्व अध्यक्ष राजनाथ सिंह और सपा नेता शिवपाल सिंह यादव शामिल हैं। पुलिस हिरासत से रिहा किए जाने के बाद जद यू सुप्रीमो शरद यादव ने इस आंदोलन को दिल्ली से चलाने का ऐलान किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली से लड़ेगा विपक्ष यूपी के किसानों की लड़ाई