DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

POK में अभी भी आतंकवादी शिविर: थलसेना

थलसेना ने सोमवार को यहां कहा है कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पार जम्मू एवं कश्मीर के पाकिस्तान अधिकृत हिस्से में अभी भी आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर मौजूद हैं।

घाटी में आतंकवाद निरोधी 'किलो फोर्स' के जनरल-ऑफिसर-कमांडिंग, मेजर जनरल रवि थोडगे ने उत्तर कश्मीर में कुपवाड़ा जिले के हिंदवाड़ा में संवाददाताओं को बताया, ''एलओसी के उस पार आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर अभी भी मौजूद हैं।''

थोडगे ने कहा, ''आतंकवादी इस वर्ष गर्मी के दिनों में छोटे-छोटे समूहों में घाटी में घुसपैठ की कोशिश कर सकते हैं, लेकिन हमारे सैनिक घुसपैठ की इस तरह की किसी भी कोशिश को नाकाम करने के लिए सतर्क हैं।''

संवाददाता सम्मेलन में हथियारों और गोला-बारूद के बड़े जखीरे के साथ ही अन्य सामरिक उपकरणों को प्रदर्शित किया गया। थोडगे ने कहा कि हथियारों व गोला-बारूद के इस जखीरे को जम्मू एवं कश्मीर पुलिस और 6राष्ट्रीय राइफल्स के जवानों ने कुपवाड़ा में हफरुदा के घने जंगलों से बरामद किया।

वहां से आठ एके-56 राइफलें, चार एके-47 राइफलें, एक अंडर बैरल ग्रेनेड लांचर (यूबीजीएल), आठ यूबीजीएल गोले, 694 चक्र एके कारतूस, 40 गोले, एंटिना युक्त एक रेडियो सेट, 20 रिमोट कंट्रोल इम्प्रोवाज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस बॉक्स और 15 इलेक्ट्रॉनिक डेटोनेटर के अलावा अन्य हथियार एवं उपकरण बरामद किए गए थे।

थोडगे ने कहा, ''हाल के दिनों में बरामद हुआ हथियारों व गोला-बारूद का यह एक बड़ा जखीरा है और इस बरामदगी ने उत्तर कश्मीर में आतंकवादियों की नापाक साजिशों को नाकामयाब कर दिया है।''

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:POK में अभी भी आतंकवादी शिविर: थलसेना