DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आदिवासियों के वार्षिक शिकार उत्सव पर नहीं हुआ रक्तपात

पश्चिमी सिंहभूम जिले के डालमा वन्य क्षेत्र में चल रहे वार्षिक शिकार उत्सव सेंद्रा के दौरान एक भी जानवर की हत्या नहीं हुई। वन विभाग ने जानवरों की हत्या के खिलाफ अभियान चलाया था।

अधिकारियों ने बताया कि इस बार पिछली साल की तुलना में बहुत कम आदिवासी अपने परंपरागत हथियारों के साथ डालमा की चोटियों पर पहुंचे। यह उत्सव साहस के परीक्षण का प्रतीक माना जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आदिवासियों के वार्षिक शिकार उत्सव पर नहीं हुआ रक्तपात