DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बड़ा मासूम होता है काला हिरण

बड़ा मासूम होता है काला हिरण

तुम चिड़ियाघर तो गए होगे। वहां एक जानवर को हवा की गति से छलांग लगाकर चौकड़ी भरते भी देखा होगा। हां, तुम बिल्कुल सही समझे, हम काले हिरण की ही बात कर रहे हैं। तेज रफ्तार में चारों पैर समेटकर हवा में उड़ते हुए काला हिरण कितना सुंदर लगता है। मन करता है देखते रहें। यह जितना खूबसूरत दिखता है, उतना ही मासूम।

इसकी ये खूबियां इसकी दुश्मन भी बनती रही हैं। खाल और मांस के लिए इसका खूब शिकार किया गया। उत्तर-पूर्व को छोड़कर देशभर में पाए जाने वाले इस जानवर का इतना शिकार हुआ कि इसके अस्तित्व पर खतरा मंडराने लगा। इस कारण भारत सरकार ने इसे संरक्षित करने की योजना बनाई और वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के तहत इसका बचाव हुआ। आज भारत में इसकी संख्या लगभग 50 हजार है। अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान और नेपाल के नेशनल पार्क में भी काला हिरण पाया जाता है। यह हमेशा 15-20 के झुंड में रहता है।

यह घास के मैदान में पाया जाता है और इसका आहार घास, फली, फूल और फल हैं, यानी यह शाकाहारी जानवर है। इसकी उम्र 16 वर्ष होती है। अपने देश में तो काला हिरण धार्मिक आस्था से भी जुड़ा हुआ है। धर्म ग्रंथों में इसे चंद्रमा की सवारी भी कहा गया है।

बांधवगढ़ नेशनल पार्क, भरतपुर बर्ड सैंक्चुरी, कॉरबेट नेशनल पार्क, गिर फॉरेस्ट नेशनल पार्क, कान्हा नेशनल पार्क, रणथंभोर नेशनल पार्क समेत तमाम प्रमुख नेशनल पार्क और चिड़ियाघरों में काले हिरण के संरक्षण के लिए विशेष व्यवस्था की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बड़ा मासूम होता है काला हिरण