DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शेयर बाजारों की गूंज, 4.7 अरब डॉलर का विदेशी निवेश

पेट्रोलियम और सोना चांदी बाजार में तेजी का सिलसिला टूटने के साथ दुनिया भर के निवेशकों की निगाह उभरते बाजारों के शेयरों पर टिक गयी लगती है। गत चार मई को समाप्त सप्ताह के दौरान विदेशी निवेशकों ने शेयरों में निवेश करने वाले संस्थानों में कुल 4.7 अरब डॉलर की पूंजी लगाई। इसका एक तिहाई उभरे बाजरों पर केंद्रित कोषों में लगायी गयी।
 
अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निवेशकों की गतिविधियों पर निगाह रखने वाली फर्म ईपीएफआर के आंकड़ों के अनुसार चार मई को समाप्त सप्ताह के दौरान शेयर में निवेश करने वाले कोषों के पास 4.7 अरब डॉलर पूंजी पहुंची। इसमें से 1.2 अरब डॉलर उभरते बाजारों पर केंद्रित कोषों में लगायी गयी।
  
हालांकि इस दौरान एशिया में जापान को छोड़कर इक्विटी फंडों की ओर से पूंजी का गिरकर छह सप्ताह के निम्न स्तर पर आ गया। बताया गया है कि इसका एक बड़ा कारण भारत में ब्याज दरों में वृद्धि तथा चीन में ब्याज दरों में और वृद्धि का संकेत है।
  
कुल मिलाकर बिक्र (ब्राजील, चीन, भारत और रूस) समर्पित कोष को लेकर निवेशकों का रूख मिला-जुला रहा। पिछले 18 से 16 सप्ताह के दौरान ब्रिक देशों पर केंद्रित शेयर निवेश कोषों ने कुल मिला कर करीब 2.4 अरब डॉलर की पूंजी की निकासी की है।

हालांकि ईपीएफआर के आंकड़ों में भारत केंद्रित कोष के बारे में अलग से कुछ नहीं बताया गया है पर बुधवार को समाप्त सप्ताह में चीन में निवेश करने वाले कोषों की ओर से पूंजी की निकासी 12 सप्ताह के उच्च स्तर पर चली गयी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शेयर बाजारों की गूंज, 4.7 अरब डॉलर का विदेशी निवेश