DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘पुष्कर’ स्नान शुरू, घाटों में आस्था का रेला

काशी में आंध्र प्रदेश के श्रद्धालुओं का ‘पुष्कर’ स्नान रविवार से शुरू हो गया। मान्यताओं व परंपराओं के अनुसार 12 साल में एक बार बारह दिनों तक चलने वाले इस पवित्र पर्व के पहले दिन लगभाग एक लाख से अधिक तीर्थयात्रियों ने विभिन्न मुहूर्तो में अलग-अलग घाटों पर गंगा में डुबकी लगायी और पिण्डदान भी किया।

अधिकांश भक्तों ने भोर में 3.30 बजे के मुहूर्त को शुभ मानते हुए गंगास्नान किया। कई लोगों ने सुबह 5 बजे और अन्य श्रद्धालुओं ने दोपहर 12 बजे का मुहूर्त माना। मीरघाट से लेकर अस्सी के बीच कई घाटों पर उनकी उपस्थिति अधिक रही। हजारों लोगों ने गंगापार जाकर भी डुबकी लगाई।

19 मई तक चलने वाले इस आयोजन के तहत गंगा तट के दक्षिण भारतीय बहुल इलाकों के घाटों पर सामूहिक कर्मकांड कराने के लिए लाउडस्पीकर व अस्थायी टेंट-तिरपाल आदि की व्यवस्था की गई थी। आंध्र प्रदेश के विजया नगरम, श्रीकाकुलम, विशाखापत्तनम व गोदावरी आदि जिलों से सर्वाधिक तीर्थयात्री आ रहे हैं। हालांकि एक निराशाजनक पहलू यह भी रहा कि रविवार की सुबह गंगातट के कई घाटों पर कोई साफ-सफाई नहीं दिखी। सैकड़ों तीर्थयात्रियों ने उसी गंदगी के बीच से गुजरने और बैठने के लिए बाध्य दिखे।

पुलिस या टूरिस्ट पुलिस नहीं
काशी के ‘पुष्कर’ में लाखों लोगों के आने की संभावना जताते हुए कुछ संस्थाओं ने पहले से ही पुलिस-प्रशासन को तीर्थयात्रियों की सुरक्षा की मांग की थी। उन्होंने संबंधित इलाकों में पुलिस की तैनाती का आग्रह किया था। लेकिन रविवार की सुबह सर्वाधिक भीड़ वाली गलियों में सिपाही और टूरिस्ट पुलिस नहीं दिखी।

मंदिरों बढ़ी भीड़
भारी संख्या में आ रहे दक्षिण भारतीयों के चलते रविवार को श्री काशी विश्वनाथ मंदिर, गौरीकेदारेश्वर महादेव मंदिर, संकटमोचन, तुलसी मानस मंदिर व बीएचयू स्थिति विश्वनाथ मंदिर में दर्शनार्थियों की भीड़ बढ़ गयी है। सारनाथ व रामनगर किले देखने वालों की संख्या भी अचानक बढ़ी है।

नहीं मिल रही जगह
सिर टिकाने की जगह न मिलने से सैकड़ों तीर्थयात्री परेशान दिखे। कई भवनों के आंगन में डेरा जमाए लोगों को ऊपरी मंजिल या छत में व्यस्थित करना स्थानीय लोगों के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। कई स्थान पर भंडारा शुरू किया गया है।

मुफ्त बांट रहे फोल्डर
श्रीरामतारक आंध्र आश्रम द्वारा तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए मुफ्त फोल्डर बांटा जा रहा है। जिसमें तेलुगु भाषा में स्थानीय जानकारी, इमर्जेसी फोन नंबर, हॉस्पिटल, ट्रेन-फ्लाइट के आवागमन आदि की जानकारी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:‘पुष्कर’ स्नान शुरू, घाटों में आस्था का रेला