DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजा का दिल बोले कोर्ट चलूं तो खर्राटे भरूं

राजा को तिहाड़ में ठीक से नींद नहीं आती। आंखों-आंखों में रात कटती है। वह अदालत आते हैं तो थके-थके से रहते हैं, लेकिन जाते समय तरो-ताजा। इसका राज छिपा है विशेष अदालत में। वहां तीन एसी लगे हैं। कोर्ट में आते ही राजा पिलर के पीछे की कुर्सी थाम लेते हैं और फिर लग जाते हैं नींद पूरी करने में। हां, रविवार का दिन उनपर जरूर भारी पड़ता है क्योंकि इस दिन अदालत नहीं जाना होता। 

टूजी स्पेक्ट्रम घोटाले में जेल गए पूर्व दूरसंचार मंत्री, उनके दो अधिकारी और कारपोरेट क्षेत्र के बड़े पांच दिग्गज इन दिनों जेल की कोठरी में रात बीतने का इंतजार करते हैं। दिन में नौ से पांच का वक्त उनका विशेष सीबीआई कोर्ट के 16 डिग्री के वातानुकूलित माहौल में कटता है। जबकि जेल की कोठरी में तापमान 36 के आसपास रहता है। विशेष कोर्ट में आने के बाद राजा और अन्य आरोपियों की प्राथमिकताएं अलग-अलग होती हैं। राजा जहां अपनी नींद पूरी करने की जुगत में लग जाते हैं तो बाकी जरूरी कामकाज निपटाने में लग जाते हैं।

कारपोरेट अधिकारियों की पत्नियां उनका इंतजार कर रही होती हैं। उनसे मोबाइल लेकर वे ई-मेल भेजना शुरू करते हैं, साथ ही कुछ निर्देश भी देते हैं जिन्हें सुनकर उनके कारिंदे कोर्ट से बाहर चले जाते हैं। कुछ पानी और शरबत पीकर अपने को ठंडा रखते हैं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राजा का दिल बोले कोर्ट चलूं तो खर्राटे भरूं