DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाहनों के ओवरलोडिंग के मामले में पिरवहन विभाग हर दिन नए आदेश जारी कर रहा है। कभी परिमट सीज करने का तो कभी वाहन मालिक व ड्राइवर पर प्राथिमकी दर्ज करने का आदेश। तो कभी हो रही कार्रवाई पर जांच दल की नजर। इसी क्रम में शुक्रवार को पिरवहन विभाग ने नया आदेश जारी कर कहा है कि ओवरलोडिंग मामले में अब व्यापारी व एजेंसी पर भी कार्रवाई होगी।

यानी अगर कोई व्यापारी ट्रक या टैक्टर पर क्षमता से अधिक सामान लादता है तो ओवरलोडेड वाहन के पकड़े जाने पर उनके खिलाफ भी प्राथिमकी दर्ज की जाएगी। इसके पहले विभाग ने आदेश निकाला था कि मुख्यालय से वरीय पदाधिकारियों के नेतृत्व में जांच दलजिंलों का भ्रमण करेगा।

जांच दल यह पता करेगा कि ओवरलोडिंग मामले में दोषियों के विरुद्ध प्राथिमकी दर्ज हो रही है या नहीं। अगर जांच दलों के भ्रमण के समय वाहनों पर ओवरलोडिंग पायी गयी तो यह समझा जाएगा किजिंला पिरवहन पदाधिकारी व प्रवर्तन अवर निरीक्षक की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

ऐसी स्थित में डीटीओ व अवर प्रवर्तन पदाधिकारी के खिलाफ ही विभागीय कार्रवाई की जाएगी। दरअसल ओवरलोडिंग मामले में वाहन मालिक, सीमेंट कंपनी व एफसीआई ,जिंला पिरवहन पदाधिकारी (डीटीओ ), प्रवर्तन अवर निरीक्षक के बाद व्यापारी भी दायरे में आ गए हैं। विभाग ने आदेश जारी किया था कि अगर सीमेंट कंपनी व फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने ट्रक पर लादान क्षमता से अधिक लोडिंग की तो उनके खिलाफ प्राथिमकी दर्ज की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ओवरलोडिंग होने पर अब व्यापारी व एजेंसी पर भी प्राथमिकी