DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गिलानी ने पाकिस्तान में अमेरिका कार्रवाई पर विरोध जताया

गिलानी ने पाकिस्तान में अमेरिका कार्रवाई पर विरोध जताया

अल कायदा प्रमुख ओसमा बिन लादेन को मारने के लिए अमेरिका के खुफिया अभियान के कारण चौतरफा आलोचनाओं से घिरे पाकिस्तान ने रविवार को वाशिंगटन पर निशाना साधते हुए कहा कि उसे इस्लामाबाद की अनदेखी कर देश की संप्रभुता का उल्लंघन नहीं करना चाहिए था। पाकिस्तान ने यह भी स्पष्ट किया कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध सामान्य होने में कुछ समय लगेगा।

पाकिस्तानी सरकार अमेरिका की एकपक्षीय कार्रवाई के कारण आलोचनाओं से बुरी तरह घिर गई है। साथ ही उसकी इस दावे के कारण भी निंदा हो रही है कि उसे ऐबटाबाद में अल कायदा प्रमुख की मौजूदगी के बारे में कोई सूचना नहीं थी।
    
फ्रांस की सरकारी यात्रा पर अपने साथ जा रहे गिलानी ने कहा कि शॉर्टकट या पाकिस्तान की संप्रभुता का उल्लंघन करने की कोई जरूरत नहीं थी। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच दीर्घकालीन संबंधों के मद्देनजर पाकिस्तान की संप्रभुता का उल्लंघन नहीं किया जाना चाहिए था।
     
उन्होंने कहा कि खासकर खुफिया और रक्षा के मोर्चे पर अमेरिका के साथ सहयोग की पृष्ठभूमि में संप्रभुता का उल्लंघन उनके देश के लिए गंभीर चिंता का मामला है।
     
प्रधानमंत्री ने कहा कि सीआईए अनुबंधकर्ता रेमंड डेविस की गिरफ्तारी और अब बिन लादेन की हत्या सहित विभिन्न मामलों लेकर दोनों देशों के संबंध में कई उतार चढ़ाव आए हैं।
     
गिलानी बिन लादेन को ढूंढ़ने में अपनी सरकार की कथित विफलता को लेकर आलोचनाओं को पहले ही यह कह कर नकार चुके हैं कि यह पूरी दुनिया की खुफिया विफलता है। उल्लेखनीय है कि ओसामा बिन लादेन इस्लामाबाद से करीब 120 किलोमीटर दूर ऐबटाबाद में अमेरिकी सैन्य बलों की कार्रवाई में मारा गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गिलानी ने पाकिस्तान में अमेरिका कार्रवाई पर विरोध जताया