DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रेटर नोएडा में तनाव बरकरार, खड़ी फसल में आग

ग्रेटर नोएडा में तनाव बरकरार, खड़ी फसल में आग

ग्रेटर नोएडा के भट्टा और पारसौल गांवों में दूसरे दिन भी तनाव बरकरार है। खेतों में खड़ी गेहूं की फसल में आग लगा दी गई है। पुलिस और किसान एक दूसरे पर फसल को आग के हवाले करने का आरोप लगा रहे हैं।

गांव वालों के अनुसार पुलिस ने ही मनवीर सिंह तेवतिया के खेतों में छुपे होने के शक में खेतों को आग के हवाल कर दिया है। धीरे-धीरे आग आसपास के खेतों में खड़ी फसल को नष्ट करती जा रही है, लेकिन इसे बुझाने का कोई प्रयास नहीं हो रहा है।

इससे पहले किसानों और पुलिस के बीच शनिवार को हुई हिंसक घटना को गंभीरता से लेते हुए मनवीर सिंह तेवतिया की गिरफ्तारी पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित कर दिया।

ग्रेटर नोएडा के दनकोर इलाके के भट्टा और पारसौल गांव में शनिवार को हुई हिंसक घटना में घायल एक ग्रामीण की देर रात और एक की रविवार सुबह इलाज के दौरान गाजियाबाद अस्पताल में मृत्यु हो गई जिससे इस घटना में मृतकों संख्या बढ़कर पांच हो गई है।

राज्य के विशेष पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) बृजलाल ने रविवार को बताया कि आन्दोलन का नेतृत्व करने वाले मनवीर सिंह तेवतिया की गिरफ्तारी पर पुलिस महानिदेशक की ओर से 50 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है। बुलंदशहर निवासी मनवीर शनिवार से फरार है। उन्होंने बताया कि शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है।

बृजलाल ने बताया कि किसानों की गोली से शनिवार को शहीद हुए दोनों पुलिसकर्मियों मनवीर सिंह और मनोहर सिंह के शव सुबह पुलिस लाइन में लाए गए। श्रद्धांजलि के बाद अंतिम संस्कार के लिए उनके परिजनों को सौंप दिए गए।

बृजलाल ने बताया कि इस सिलसिले में 20 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। क्षेत्र में पुलिस की गश्त जारी है। मनवीर तेवतिया की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें गठित कर दी गई हैं और उसकी तलाश की जा रही है।

गौरतलब है कि गौतमबुद्धनगर जिले में भट्टा पारसौल गांव में शनिवार को धरने पर बैठे किसानों और पुलिस के बीच हुई हिंसक झड़प के दौरान गोलीबारी में पुलिस के दो जवानों और एक किसान की मौत हो गई थी जबकि जिलाधिकारी दीपक अग्रवाल, सिटी मजिस्ट्रेट संजय चौहान के अलावा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सूर्यनाथ सिंह, उप पुलिस अधीक्षक राहुल कुमार और दनकौर के थानाध्यक्ष राजीव कुमार तथा फेस दो के थानाध्यक्ष अनुज चौधरी एंव कुछ किसान घायल हो गए थे।

किसान अपनी जमीनों की मुआवजा राशि बढा़ने की मांग को लेकर पिछले करीब चार माह से गांव में धरने पर बैठे थे। उन्होंने शुक्रवार को रोडवेज के कुछ कर्मचारियों को बंधक बना लिया था। शनिवार को जब प्रशासन बंधकों को मुक्त कराने के लिए भट्टा पारसौल गांव पहुंचा तो किसानों और पुलिस के बीच झड़प के बाद दोनों ओर से गोलीबारी हुई।

राज्य के पुलिस महानिदेशक करमवीर सिहं शनिवार को कहा कि मनवीर सिंह तेवतिया अपने राजनीतिक स्वार्थ पूर्ति के लिए गांव के कुछ युवकों को भ्रमित कर पिछले कई माह से अपनी मांगों को लेकर आन्दोलन कर रहा है। क्षेत्र के किसानों ने 99 प्रतिशत भूमि का मुआवजा ले लिया है। इससे पहले तेवतिया ने अलीगढ़ के टप्पल और मथुरा में भी आन्दोलन किया जहां हिंसक घटनाएं हुई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ग्रेटर नोएडा में तनाव बरकरार, खड़ी फसल में आग