DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हत्या के आरोपी विधायक की गाड़ियां जब्त

गढ़वा के छात्र अविनाश कुमार तिवारी की हत्या में इस्तेमाल की गई गाड़ियों को पुलिस ने जब्त कर लिया है। ये गाड़ियां खिजरी के कांग्रेसी विधायक सावना लकड़ा की हैं। गाड़ियों में से एक लाल बत्ती वाली कार (जेएच-1एल 4544) व दूसरी बोलेरो (जेएच-1आर 3232) है। दोनों वाहनों की बारीकी से जांच शुरू कर दी गई है। आवश्यकता होने पर एफएसएल की भी मदद ली जाएगी। उधर विधायक की गिरफ्तारी की मांग को लेकर रंका में शनिवार को छह घंटे तक एनएच को जाम किया गया।

हटिया डीएसपी राजीव रंजन ने बताया कि विधायक के चालक विनय कुमार वासुकी व फार्म हाउस के कर्मी माधवा बेदिया से पूछताछ और हत्याकांड की छानबीन के क्रम में मिली जानकारी के अनुसार दोनों वाहनों का अविनाश के अपहरण एवं उसकी हत्या में इस्तेमाल किया गया है। इसी आधार पर पुलिस ने दोनों वाहन जब्त किया है। प्रारंभिक जांच में पाया गया कि अविनाश की लाश को कर्रा में ठिकाने लगाने के बाद अभियुक्तों ने काफी अच्छी तरह से वाहनों को साफ किया है।

हटिया डीएसपी ने बताया कि मामले के अभियुक्त विधायक सावना लकड़ा व उनके अंगरक्षकों का पता नहीं चल सका है। दोनों अंगरक्षकों का मोबाइल भी बंद है। पुलिस विधायक के नजदीकी लोगों पर भी नजर रख रही है। इस बीच इस मामले की जांच सीआईडी ने भी शुरू कर दी है।

उधर विधायक चालक विनय कुमार वासुकी ने न्यायिक दंडाधिकारी केके शुक्ला की अदालत में धारा 164 के तहत दर्ज बयान में कहा है कि 25 अप्रैल को देर शाम करीब साढ़े सात बजे विधायक ने उससे अंबेसडर की चाबी मांगी और कहीं चले गए। रात करीब 11 बजे वह घर लौटे। उसने विधायक के अंगरक्षक से पूछा, तो उसने कहा कि बड़े दुख की बात है कि जिसे पकड़े थे, उसे मार दिए। अब किसी को पता भी नहीं चलेगा।

इधर विधायक सावना लकड़ा समेत अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शनिवार को रबदा के ग्रामीणों ने रंका-अंबिकापुर मार्ग करीब छह घंटे तक जाम कर दिया। बाद में उग्र लोगों ने अपनी मांगों के समर्थन में उपायुक्त के नाम बीडीओ धनंजय को मांगपत्र सौंपा। आक्रोशित लोगों ने पुलिस-प्रशासन और कांग्रेसी विधायक सावना लकड़ा के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

ग्रामीण विधायक समेत अन्य आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग कर रहे थे। साथ ही पीड़ित परिजनों को एक सदस्य को सरकारी नौकरी और 25 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की गई। इसका नेतृत्व झाविमो के प्रकाश चंद्र पाठक और भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य राजीव रंजन तिवारी ने संयुक्त रूप से किया। जाम की सूचना पाकर पहुंचे बीडीओ और थाना प्रभारी आनंद कुमार सिंह ने लोगों को समझाया बुझाया। अंत में उन्होंने पीड़ित परिवार को सहायता मद से 10 हजार रुपए का चेक दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हत्या के आरोपी विधायक की गाड़ियां जब्त